10 Things About Gujarat Riots: तीस्ता सीतलवाड हुई गिरफ्तार

10 Things About Gujarat Riots: तीस्ता सीतलवाड हुई गिरफ्तार 10 Things About Gujarat Riots: तीस्ता सीतलवाड हुई गिरफ्तार

Sanjana

28 Jun 2022

एक्टिवेट तीस्ता सीतलवाड़ और आईपीएस ऑफिसर आर बी श्रीकुमार और संजीव भट्ट के खिलाफ दर्ज किए गए केस की जांच पड़ताल एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के द्वारा की जाएगी। रविवार को गुजरात के एक सीनियर ऑफिसर ने इसकी घोषणा की। इन लोगों पर 2002 के गुजरात सामुदायिक दंगों के संबंध में गलत एविडेंस देकर कानून को धोखा देने का आरोप लगाया गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने इस केस की जांच पड़ताल के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के गठन का फैसला किया। इसमें यह साफ हो गया कि 2002 के गुजरात दंगों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ भी था। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के एक दिन बाद ही यूनाइटेड नेशन के एक एक्सपर्ट में अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार ग्रुप को ज्वाइन कर लिया । उन्होंने भारतीय मानव अधिकार की वकील तीस्ता सीतलवाड़ की गिरफ्तारी पर अपनी चिंता भी जताई।

तीस्ता सीतलवाड केस से जुड़ी 10 अहम बातें -

1. गुजरात पुलिस की एंटी टेररिज्म यूनिट ने तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात के दंगों के बारे में गलत जानकारी देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। इन दंगों के समय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। गृह मंत्री अमित शाह जी नरेंद्र मोदी के काफी करीबी दोस्त हैं।

2. गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में सीतलवाड़ को म्यूनिसिपल कोर्ट में बुलाया गया। उन्होंने 2002 के दंगों से पीड़ित कई लोगों की वकालत की है। उन्हें दंगों से जुड़ी गलत जानकारी और सबूत पेश करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।

3. तीस्ता सीतलवाड़ और आर बी श्रीकुमार के गिरफ्तारी ने कोलकाता और बेंगलुरु में प्रदर्शनों की कतार लगा दी है।

4. दंगों में ट्रेन जलाए जाने के कारण करीब 2000 लोगों की मौत हो गई थी जिनमें से अधिकतर लोग मुस्लिम थे।

5. फिलहाल ऑफिशियल संख्या 1000 बताई जा रही है।

6. एक घटना में गुलबर्ग सोसाइटी कंपलेक्स की सभी बिल्डिंग्स में एक साथ आग लगा दी गई थी। यहां रहने वाले ज्यादातर परिवार मुस्लिम थे।

7. इस घटना में 69 लोगों की मौत हुए थी जिसमें से एक लॉमेकर एहसान जाफरी भी थे।

8. 2013 में एहसान जाफरी की बीवी जाकिया जाफरी ने सीतलवाड के साथ मिलकर सुप्रीम कोर्ट में 1 पेटिशन दर्ज की थी। इस पिटीशन को शुक्रवार के दिन कोर्ट द्वारा खारिज कर दिया गया।

9. शनिवार के दिन सुप्रीम कोर्ट के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बेकसूर घोषित करने के एक दिन बाद सीतलवाड़, श्री कुमार और भट्ट के खिलाफ स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने केस दर्ज किया।

10. सीतलवाड़ श्रीकुमार और भट्ट आईपीसी की धारा 468, 471, 194, 211 और 218 का उल्लंघन करने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया गया है।

अनुशंसित लेख