मुनिता प्रजापति ने तोड़ा नैशनल रिकॉर्ड : वाराणसी की मुनिता प्रजापति ने 19 वर्ष की उम्र में 36 वीं राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के अंडर-20 महिला 10000 मीटर रेस वॉक इवेंट में नया नैशनल रिकॉर्ड कायम किया है। मुनिता ने पुराना नैशनल रिकॉर्ड मिटाकर, पूरे देश को नया रिकॉर्ड बनाकर दिखाया है।

image

मुनिता ने कैसे नया रिकॉर्ड कायम किया ?

मुनिता प्रजापति ने 36 वीं राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप के अंडर-20 महिला 10000 मीटर रेस वॉक इवेंट में 47: 53.58 सेकेंड का रिकॉर्ड बनाकर, पुराना रिकॉर्ड तोड़ा है। मुनिता ने रेशमा पटेल के 48: 25.90 के रिकॉर्ड को मिटाने के लिए 47: 53.58 सेकेंड का रिकॉर्ड बनाया, जो पिछले महीने भोपाल में जूनियर फेडरेशन कप में हासिल किया गया था। 

मुनिता ने अगस्त में केन्या में नैरोबी में आयोजित होने वाले विश्व जूनियर्स के लिए पहले ही एक स्थान बुक कर लिया था, पिछले साल फरवरी में दौड़ने वाले नागरिकों में 50: 30 सेकेंड के मानक के भीतर सिर्फ एक सेकेंड में।

मुनिता प्रजापति कौन हैं ?

मुनिता प्रजापति 19 साल की एक रेस वॉकर हैं। मुनिता के पिता निर्माण मजदूर हैं, मगर पिछले वर्ष काम करने के दौरान उनको चोट आ गई थी जिसके कारण उनको अपना काम छोड़ना पड़ा था। साथ ही, मुनिता की माँ एक गृहिणी हैं।

मुनिता अपनी सफलता के पीछे अपनी बहन का हाथ बताती हैं। और कहती हैं कि बड़ी बहन ने ही उन्हें एथलेटिक्स में आने के लिए प्रोत्साहित किया था। मुनिता आगे बताती हैं कि बड़ी बहन ने उन्हें स्पोर्ट्स कोटा से सरकारी नौकरी पाने की राह बताई थी। और फिर अपने परिवार को आर्थिक रूप से मदद करने के लिए, यही मुनिता का एकमात्र सपना बन गया।

”मेरी बहन कोई एथलीट नहीं है, मगर उसने मुझे बताया कि यही एक रास्ता है गाँव से बाहर जाकर अपना नाम बनाने का। मुझे यह बात पता थी कि अपने परिवार को गरीबी से निकालने के लिए और आर्थिक रूप से उनकी मदद करने के लिए मुझे खुद कुछ करना होगा। मेरे माँ-बाप ने मेरे लिए बहुत कुछ किया है, और अब मुझे उनका भविष्य सुंदर बनाने के लिए काम करना है।” इसी के साथ मुनिता ने बताया कि अब उनके ऊपर उनकी तीन बड़ी बहनों और एक छोटे भाई की जिम्मेदारियाँ भी हैं।

 

Email us at connect@shethepeople.tv