Advertisment

5 साल की Jiaana Garg बनीं सबसे कम उम्र की FIDE रेटेड खिलाड़ी

5 साल की जियाना गर्ग ने शतरंज की दुनिया में तहलका मचा दिया है! जानिए कैसे चंडीगढ़ की इस चमकती प्रतिभा ने हासिल की FIDE रेटिंग और कैसे उनका परिवार और कोच बन रहे हैं उनकी सफलता का आधार

author-image
Vaishali Garg
New Update
Chandigarh's Jiaana Garg Becomes Youngest FIDE Rated Player

Image Credit: Punjab News Express

Chandigarh's Jiaana Garg Becomes Youngest FIDE Rated Player: चंडीगढ़ की रहने वाली 5 साल की जियाना गर्ग शतरंज की दुनिया का नया चमकता सितारा हैं। 1 मई 2024 को जियाना को इंटरनेशनल चेस फेडरेशन (FIDE) द्वारा 1558 की रेटिंग दी गई। हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, इतनी कम उम्र में रेटिंग प्राप्त करने वाली वह दुनिया की इकलौती महिला खिलाड़ी हैं।

Advertisment

चंडीगढ़ की 5 साल की जियाना गर्ग बनीं सबसे कम उम्र की FIDE रेटेड खिलाड़ी!

जुनून और मेहनत की कहानी

जियाना के बड़े भाई एक सफल शतरंज खिलाड़ी हैं और उन्हीं से प्रेरणा लेकर मात्र 4 साल की उम्र में जियाना ने चंडीगढ़ चेस एसोसिएशन में पेशेवर प्रशिक्षण शुरू कर दिया। उनके प्रशिक्षक नवीन बंसल ने बताया कि 15 साल के अपने कोचिंग करियर में जियाना उनकी अब तक की सबसे कम उम्र की छात्रा हैं।

Advertisment

एक साल में कई उपलब्धियां

जियाना को भले ही शतरंज खेलना सीखे अभी सिर्फ एक साल हुआ है, लेकिन वह पहले ही कई प्रतियोगिताओं में भाग ले चुकी हैं। उनके प्रशिक्षक नवीन बंसल ने पंजाब न्यूज एक्सप्रेस को बताया, "शुरुआत में, मैंने उन्हें प्रशिक्षण देने से मना कर दिया था क्योंकि आम तौर पर हम 5 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं लेते। लेकिन उनकी माँ ने मुझे एक वीडियो भेजा, जिससे वह मुझे यह विश्वास दिला सकें कि जियाना अनुशासित हैं और शतरंज कक्षाओं पर ध्यान केंद्रित कर सकती हैं।"

कुछ महीनों के प्रशिक्षण के बाद, उन्हें पहले ही उन्नत बैच में पदोन्नत कर दिया गया। "उनकी सीखने की क्षमता और समर्पण को देखते हुए, हमने उन्हें प्रयोग के तौर पर अपने सबसे उन्नत बैच में डाल दिया ताकि वह मेरे व्याख्यानों को सुन सकें। हमने महसूस किया कि वह उन अन्य बच्चों के समान ही जवाब दे रही हैं, जो सभी पहले से ही रेटेड थे और उनकी उम्र से काफी बड़े थे," बंसल ने बताया।

Advertisment

सफलता के पीछे का राज

जियाना के कोच ने यह भी बताया कि बाल शतरंज खिलाड़ी को निखारने में परिवार की भूमिका कितनी महत्वपूर्ण होती है। बंसल ने समाचार पत्र को बताया, "यह बताना जरूरी है कि जियाना की माँ प्रियंका गर्ग की भूमिका उल्लेखनीय रही है। माता-पिता की भूमिका के बिना, दुनिया का कोई भी कोच उनकी उम्र के बच्चे को विश्व स्तर पर नहीं ले जा सकता। यह हमेशा माता-पिता, कोच और बच्चे के समन्वय का परिणाम होता है।"

जियाना का शानदार प्रदर्शन

जियाना गर्ग ने कई टूर्नामेंटों में भाग लिया है, जिनमें मैट्रिक्स कप इंटरनेशनल ओपन फाइड रेटेड शतरंज टूर्नामेंट 2024, नेशनल अंडर-11 गर्ल्स चेस चैम्पियनशिप-2023, पहला मैट्रिक्स कप इंटरनेशनल ओपन फाइड रेटिंग शतरंज टूर्नामेंट 2023 और पहला स्वर्गीय श्री धीरज सिंह रघुवंशी मेमोरियल ओपन फाइड रेटिंग टूर्नामेंट 2023 शामिल हैं।

जियाना गर्ग की यह कहानी जुनून, कड़ी मेहनत और परिवार के समर्थन की ताकत को दर्शाती है। निश्चित रूप से भविष्य में जियाना शतरंज की दुनिया में भारत का नाम और ऊंचा करेंगी! 

Youngest FIDE Rated Player Jiaana Garg Becomes Youngest FIDE Rated Player Jiaana Garg
Advertisment