12th बोर्ड अशनूर कौर – टीवी एक्टर अशनूर कौर भी 12th क्लास में हैं और इस 12th बोर्ड एग्जाम कैंसिल होने के कंफ्यूशन को लेकर परेशान हो चुकी हैं। इन्होंने कहा कि बच्चे बहुत परेशान हैं ये सोचकर की एग्जाम कब होंगे, एग्जाम के लिए पढ़ें या अपना टाइम किसी और चीज़ को दें।

अशनूर कौर ने 12th बोर्ड एग्जाम को लेकर क्या कहा ?

अशनूर कौर ने कहा कि एग्जाम के फाइनल फैसला दिन पर दिन डिले होता जा रहा है। इसके कारण बच्चे हर दिन और ज्यादा टेंशन में आते जा रहे हैं। उनके मन में कई सवाल रहते हैं और वो बहुत स्ट्रेस में आ जाते हैं। अशनूर ने कहा कि एग्जाम के कारण इन्होंने कई प्रोजेक्ट्स और काम के लिए मना किया है। बाकि के बच्चों के साथ भी यही हो रहा है उन्हें समझ ही नहीं आ रहा कि पढाई को समय दें या एंट्रेंस की तैयारी करें।

अशनूर पिछले साल पटिआला बेब्स सीरियल में नज़र आयी थीं और ये हमेशा से बच्चों की मेन्टल पीस को लेकर बात करती आयी हैं। इन्होंने ये भी कहा कि एग्जाम डेट आने से पहले कम से कम 15 दिन का समय जरूर देना चाहिए ताकि बच्चे तैयारी क्र सकें।

स्टेट्स ने 12th बोर्ड एग्जाम को लेकर क्या कहा ?

सरकार ने 12th बोर्ड एग्जाम कैफीनल फैसला करने के लिए सभी स्टेट्स से उनकी राय मांगी। 32 में से 29 स्टेट्स और यूनियन टेरिटरीज ने हाँ कहा है या फिर एग्जाम से पहले वैक्सीन का सुझाव दिया।

एजुकेशन मिनिस्ट्री को सभी राज्यों ने अपने अपने सुझाव भेज दिए है। दिल्ली, महाराष्ट्र, गोवा एंड अंडमान & निकोबार ने पेन और पेपर वाले एग्जाम के लिए न मंजूरी दी है।

ऑप्शन-बी के लिए भी काफी स्टेट्स ने कहा है जिस में कि एग्जाम सेण्टर की जगह एग्जाम स्कूल में लिए जाएंगे। एग्जाम भी अब कम समय का रखा जाएगा जो कि 90 मिनट का होगा। केरल और आसाम ने एग्जाम से पहले वैक्सीनेशन के लिए कहा है। दिल्ली और महराष्ट्र ने बताया कि बच्चों और टीचर्स के लिए एग्जाम से पहले वैक्सीन लगना कितना ज्यादा जरुरी है।

तमिलनाडु, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और हरयाणा ने यूनियन गवर्नमेंट से क्वेश्चन पपएर के पैटर्न में ज्यादा बदलाव न करने के लिए कहा है। एजुकेशन मिनिस्ट्री इन सभी का फैसला सुनकर अगले हफ्ते तो फाइनल फैसला देंगे।

Email us at connect@shethepeople.tv