Advertisment

आंध्र की डॉक्टर बनीं नेता ने चुनाव प्रचार बीच में रोका, किया C-Section ऑपरेशन

आंध्र प्रदेश के दर्शी से एक दिल को छू लेने वाली घटना सामने आई है, जहां एक डॉक्टर से नेता बनीं महिला ने आपातकालीन सी-सेक्शन सर्जरी करने के लिए अपना चुनाव प्रचार अभियान बीच में ही रोक दिया।

author-image
Vaishali Garg
New Update
Andhra Doc Turned Politician Pauses Poll Campaign To Perform C Section

Image: @IamDrLakshmiG, X (Twitter)

Andhra Doc Turned Politician Pauses Poll Campaign To Perform C-Section:आंध्र प्रदेश के दर्शी से एक दिल को छू लेने वाली घटना सामने आई है, जहां एक डॉक्टर से नेता बनीं महिला ने आपातकालीन सी-सेक्शन सर्जरी करने के लिए अपना चुनाव प्रचार अभियान बीच में ही रोक दिया।

Advertisment

आंध्र की डॉक्टर बनीं नेता ने चुनाव प्रचार बीच में रोका, किया C-Section ऑपरेशन

चुनाव प्रचार से इतर मरीज का ध्यान रखा

19 अप्रैल को, तेलुगु देशम पार्टी की उम्मीदवार डॉ. गोट्टीपति लक्ष्मी ने अपने पेशे के प्रति समर्पण से इंटरनेट का दिल जीत लिया। वह 18 अप्रैल को प्रचार के लिए निकलने वाली थीं, तभी उन्हें एक गर्भवती महिला के बारे में पता चला, जिसे तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता थी। महिला का एमनियोटिक द्रव कम हो रहा था, जिससे गर्भपात हो सकता था। आसपास कोई स्त्री रोग विशेषज्ञ (gynaecologist) न होने के कारण, लक्ष्मी ने माँ और नवजात शिशु को बचाने के लिए निस्वार्थ भाव से कदम बढ़ाया।

Advertisment

माँ और बच्चा दोनों सुरक्षित

TDP की एक पोस्ट के अनुसार (जिस प्लेटफार्म पर ये पोस्ट किया गया है वो बताने की ज़रूरत नहीं है), माँ और बच्चा दोनों सुरक्षित और स्वस्थ हैं। पार्टी ने लक्ष्मी द्वारा बच्चे को गोद में लिए हुए एक वीडियो पोस्ट किया। उन्होंने टिप्पणी की, "इस दुनिया में मुझे इससे ज्यादा खुशी देने वाली कोई चीज़ नहीं है, जितनी इस धरती पर एक नए जीवन का स्वागत करना। बच्चे और मुस्कान मुझे आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं। यह एक अच्छा दिन था।"

नेताजी ने दिया बच्चे को जन्म

Advertisment

NDTV से बात करते हुए, लक्ष्मी ने कहा कि "मुझे एक मेडिकल इमरजेंसी के लिए बुलाया गया था, जब माँ को जटिलताएं पैदा हुईं और तुरंत कोई स्त्री रोग विशेषज्ञ मौजूद नहीं था। निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे गुंटूर रेफर कर दिया था। मैं वहां गई और मां और बच्चे को बचाने के लिए ऑपरेशन किया।"

सोशल मीडिया पर सराहना

गर्भवती महिला और उसके बच्चे को बचाकर लक्ष्मी को परिवार और सोशल मीडिया से खूब वाहवाही मिली। लक्ष्मी एक प्रमुख राजनीतिक पृष्ठभूमि से आती हैं। आंध्र प्रदेश में गोट्टीपति परिवार 1997 से मार्टूर, पर्चूर, अडंकी और दर्शी क्षेत्रों में प्रभावशाली रहा है। 

लक्ष्मी को टीडीपी टिकट की घोषणा के साथ, गोट्टीपति परिवार पूर्ववर्ती प्रकाशम जिले में दो पड़ोसी विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव लड़ रहा है। वह दर्शी से राजनीति में आईं। वहीं, उनका नरसरापोरे का वैवाहिक परिवार चिकित्सा क्षेत्र में प्रभावशाली है। आंध्र प्रदेश में 13 मई को चुनाव होने हैं। 

C - Section चुनाव प्रचार डॉक्टर बनीं नेता
Advertisment