Who Is Arpita Mukherjee? बंगाल मंत्री की रिश्तेदार के घर मिले 20 करोड़

Who Is Arpita Mukherjee? बंगाल मंत्री की रिश्तेदार के घर मिले 20 करोड़ Who Is Arpita Mukherjee? बंगाल मंत्री की रिश्तेदार के घर मिले 20 करोड़

Sanjana

23 Jul 2022

हाल ही में बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को घोटाला करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया है। इस घोटाले के कारण सुर्खियों में आई अर्पिता मुखर्जी भी पार्थ चटर्जी की करीबी रिश्तेदार बताई जा रही हैं। टीचरों की भर्ती करने में पार्थ चटर्जी ने बहुत बड़ा घोटाला किया था। अब ईडी इस घोटाले पर जांच कर रही है। जांच के दौरान अर्पिता मुखर्जी के घर पर छापेमारी की गई जिसमें 20 करोड़ रूपये बरामद किए गए।

कौन हैं अर्पिता मुखर्जी?

शिक्षा घोटाले की जांच में सामने आया कि बंगाल सरकार के मंत्री इसमें शामिल है। इसलिए बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार भी कर लिया गया। पार्थ चटर्जी की करीबी कहे जाने वाली अर्पिता मुखर्जी के घर में भी छापेमारी की गई और उनके घर से  20 करोड़ रूपये बरामद हुए।

घोटाले के कारण सुर्खियों में आई अर्पिता मुखर्जी कौन है यह जानने के लिए हर कोई बेसब्र है। अर्पिता मुखर्जी से काफी लोग परिचित होंगे क्योंकि वह बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में कुछ वक्त के लिए काम कर चुकी है। उनका एक्टिंग करियर काफी छोटा था और उन्होंने अधिकतर साइड रोल ही किए।

उन्होंने केवल बांग्ला फिल्म में ही नहीं बल्कि ओड़िया और तमिल फिल्मों में भी काम किया है। अर्पिता बांग्ला फिल्मों में सुपरस्टार के साथ साइड रोल कर चुकी है। उनकी बंगाली फिल्मों में से एक है अमर अंतरनाड।

बंगाल के शिक्षा मंत्री की रिश्तेदार

अर्पिता मुखर्जी के सुर्खियों में आने के बाद यह खबर फैल रही है कि वह शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी की रिश्तेदार हैं। ऐसे में आप भी उत्सुक होंगे यह जानने के लिए कि यह किस तरह से जुड़े हुए हैं। बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी दक्षिण कोलकाता में एक लोकप्रिय दुर्गा पूजा समिति का संचालन करते हैं जो बंगाल की सबसे बड़ी दुर्गा पूजा समितियों में से एक है।

2019 और 2020 में अर्पिता मुखर्जी पार्थ चटर्जी द्वारा संचालित की गई दुर्गा पूजा का मुखिया चेहरा बनी थी। दुर्गा पूजा के पोस्टर हमें पांच चटर्जी का नाम अध्यक्ष के रूप में लिखा गया था।

टीएमसी ने किया इंकार

बंगाल कि तृणमूल सरकार ने साफ-साफ बयान देते हुए अपना हाथ इस घोटाले से पीछे खींच लिया है। उनका कहना है कि इस घोटाले में उनका कोई हाथ नहीं है। ममता बनर्जी की सरकार ने तो अपना हाथ पीछे खींच कर अपना पल्ला झाड़ लिया लेकिन विपक्ष में बैठी भारतीय जनता पार्टी आक्रोश से भरी हुई है।

टीएमसी ने यह भी कहा कि घोटाले में जिन लोगों के नाम सामने आए हैं वह अपने लिए खुद बोले या उनके वकील।

अनुशंसित लेख