Bharat Singh Solanki Domestic Violence Case: गुजरात के कांग्रेस लीडर भरत सिंह सोलंकी पर डोमेस्टिक वायलेंस केस

Bharat Singh Solanki Domestic Violence Case: गुजरात के कांग्रेस लीडर भरत सिंह सोलंकी पर डोमेस्टिक वायलेंस केस Bharat Singh Solanki Domestic Violence Case: गुजरात के कांग्रेस लीडर भरत सिंह सोलंकी पर डोमेस्टिक वायलेंस केस

SheThePeople Team

30 Mar 2022


Bharat Singh Solanki Domestic Violence Case: भरत सिंह सोलंकी पहले यूनियन मिनिस्टर और कांग्रेस पार्टी के एक सीनियर लीडर रह चुके हैं। यह गुजरात से कांग्रेस पार्टी में और इनकी बीवी ने इनके ऊपर डोमेस्टिक वायलेंस का केस दर्ज करवाया है। इनकी बीवी का नाम है रेशमा और आनंद के बोरसद कोर्ट में इन्होंने अपनी पेटिशन फाइल की है।

यह मामला सबके सामने कब आया?

पेटिशन देते वक़्त रेशमा ने यह भी क्लियर किया कि यह अपने पति को तलाक नहीं देना चाहती हैं। इन दोनों के बीच कई सालों से अनबन चल रही है और मामले 2021 में सबके सामने आया। 2021 में यह दोनों ने अपनी अपनी तरफ से अख़बार में नोटिस निकालना चालू किया और अपनी कहानी बताई।

इससे पहले रेशमा ने राहुल गाँधी को एक खुला लेटर भी लिखा था जब वो गुजरात आने वाले थे यह बताते हुए कि इनके पति का किसी और महिला के एक्सट्रामैरिटल अफेयर चल रहा है। इतना ही नहीं भरत सिंह सोलंकी इनको अपनी पोलिटिकल पकड़ दिखाकर डराते हैं और जान से मारने की धमकी देते हैं। भरत सिंह सोलंकी इससे पहले गुजरात से कांग्रेस के चीफ रह चुके हैं वो भी दो बार। हाल में ही इन्होंने कांग्रेस के लेजिस्लेटिव मेंबर्स को घर पर डिनर के लिए बुलाया था ताकि यह आने वाले असेंबली पोल के बारे में डिसकस कर सकें।

Bharat Singh Solanki Domestic Violence Case

रेशमा सोलंकी ने ANI को बताया कि  “I fled to the United States for some time for my safety as I was receiving threats. When I returned back, I tried to enter the house two-three times but I have been thrown out of the house by him.”

रेशमा का कहना है कि भरत सिंह सोलंकी इन्हें जान से मारने की धमकी देते हैं अगर वो घर वापस आयी तो। “I have received a notice from my husband, due to which me and my family’s image has been tarnished. They are spreading rumours about us due to which my parents and siblings are suffering socially.”

इन्होंने कहा जब इन्हें कोई रास्ता नज़र नहीं आया तब यह कोर्ट के पास आयी और पुलिस से प्रोटेक्शन की मांग की। इसके अलावा इन्होंने यह भी कहा कि मैं एक इंडियन हूँ और मैं अपने पति के साथ ही रहूंगी, मैं उन्हें तलाक नहीं दूंगी।


अनुशंसित लेख