ऋषि कपूर का 67 साल की उम्र में मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया है। उन्होंने कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ी। कल, उनके भाई रणधीर कपूर ने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई से पुष्टि की कि अभिनेता को सुबह अस्पताल ले जाया गया था। रणधीर कपूर ने कहा, “वह अस्पताल में है। वह कैंसर से पीड़ित है और उन्हें सांस लेने में तकलीफ है, इसलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह अभी स्टेबल है।”

image

ऋषि कपूर एक फिल्म वंश के थे – उनके पिता, राज कपूर, भारत के सबसे सम्मानित अभिनेताओं और फिल्म निर्माताओं में से थे।

यह फिल्म इंडस्ट्री के लिए इतने दिनों में दूसरा नुकसान है – कल इरफान खान ने भी कैंसर से लम्बी जंग के बाद दुनिया को अलविदा कहा था।

कैंसर से लड़ी लम्बी जंग

बॉबी और चांदनी जैसी फिल्मों में अपने काम के लिए जाने जाने वाले ऋषि कपूर सितम्बर 2018 में  कैंसर के लिए न्यूयॉर्क में इलाज किया गया था और वह पिछले साल मुंबई लौट आए थे। “घर वापस! 11 महीने, 11 दिन बाद ,” ऋषि कपूर ने अपने घर वापसी के बाद खुद ट्वीट कर यह बताया था।

ऋषि कपूर के लंबे समय के दोस्त और अमर अकबर एंथोनी जैसी फिल्मों के सह-कलाकार अमिताभ बच्चन ने ट्वीट किया, “वह चला गया। ऋषि कपूर, चला गया, बस गुजर गया। मैं टूट चूका हूं।”

ऋषि कपूर को इस साल फरवरी में दो बार अस्पताल ले जाया गया था – पहली बार नई दिल्ली में, जहाँ वे एक पारिवारिक कार्यक्रम में भाग ले रहे थे, और फिर मुंबई में। दिल्ली में अस्पताल में भर्ती होने के बाद, ऋषि कपूर ने ट्वीट किया, “प्रिय परिवार, दोस्तों, दुश्मनों और वेल-विशेर्स, मैं अपने स्वास्थ्य को लेकर आपकी सारी चिंता को जानता  हूं। धन्यवाद। मैं पिछले 18 दिनों से दिल्ली में और प्रदूषण के कारण फिल्म बना रहा हूं। मुझे एक इन्फेक्शन हुआ है, जिससे मुझे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। ” उन्होंने यह भी खुलासा किया कि डॉक्टरों ने उनके फेफड़ों पर एक पैच पाया था जिससे निमोनिया हो सकता था।

ऋषि कपूर के परिवार में उनकी पत्नी नीतू कपूर, बेटे रणबीर और बेटी रिद्धिमा हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv