टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

#Boycott Fab India Trending On Twitter: लोगों ने फैब इंडिया के एड का किया विरोध, दिवाली के एड में उर्दू शब्द किया इस्तेमाल

#Boycott Fab India Trending On Twitter: लोगों ने फैब इंडिया के एड का किया विरोध, दिवाली के एड में उर्दू शब्द किया इस्तेमाल
SheThePeople Team

18 Oct 2021

Boycott Fab India - जितनी भी बड़ी ब्रांड होती हैं वो हमेशा ऐसा कुछ कंट्रोवर्सिअल एड बनाती हैं जिससे लोग उसका विरोध करने लग जाते हैं। जल्द ही दिवाली आने वाली हैं और सभी ब्रांड्स अपने अपने एड इसके लिए शूट और रिलीज़ कर रहे हैं। फैब इंडिया जो कि एक कपड़ों की ब्रांड है ने भी अपना ऐसा ही एक एड बनाया दिवाली के लिए लेकिन इसका नाम इन्होंने जश्न-ए-रिवाज रख दिया। इसको देख सभी विरोध कर रहे हैं और इस ब्रांड को बॉयकॉट करने की मांग कर रहे हैं।

फैब इंडिया ने क्या एड बनाया है? #Boycott Fab India


फैब इंडिया ने हाल में ही इनके दिवाली कलेक्शन को लेकर आए हैं जिसका नाम इन्होंने जश्न-ए-रिवाज रख दिया है। यह देखकर सभी जगह नेटिज़ेंस भड़क गए हैं और उनका कहना है कि इस ब्रांड को पूरे तरीके से बॉयकॉट किया जाये। सोशल मीडिया पर भी बॉयकॉट फैब इंडिया ट्रेंड कर रहा है और यह हर तरफ न्यूज़ में हैं। नेटिज़ेंस का कहना है कि इस तरीके से हिन्दू त्यौहार का उर्दू में नाम रखना गलत है और इससे हिन्दू की भावनाओं को ठेस पहुंची है ।

https://twitter.com/Tejasvi_Surya/status/1450015050681311232?t=e8Z3aIcBAyv2aSZFRVjsTg&s=09

https://twitter.com/rose_k01/status/1450064684648857600?t=hTX3jsqR-aKZi7vpCUQItw&s=09

इससे पहले मान्यवर के एड को लेकर भी ऐसी ही कंट्रोवर्सी हुई थी। इस एड में आलिया भट्ट थीं और वो कन्यादान और पराया धन को लेकर बात उठाती हैं। उनका कहना है कि क्यों महिलाओं को खुद का कोई घर नहीं होता है और उन्हें हमेशा पराया ही मन जाता है। इसके बाद यह आखिर में सोच बदलने को कहती हैं जब कन्या की जगह एड में वर का भी दान होता है। इस में फिर वो कहती हैं कि कन्यादान नहीं कन्यामान।

https://twitter.com/ShefVaidya/status/1449950193177092100?t=9KRY77ESUWvHBllBqnpqeg&s=09

https://twitter.com/beingarun28/status/1450050589413371910?t=rShb6SWfSkHQ8hDqvcOxwQ&s=09

ब्रांड्स क्यों त्यौहार पर जान पूंछकर मुस्लिम और हिन्दू से जुड़े एड बनाती हैं?


आजकल ऐसे मुद्दों पर एड बनाए जाते हैं जिनको लेकर सालों से बात नहीं की जाती हैं। इसी तरह पहले एक बार तनिष्क ब्रांड ने मुस्लिम औरत की गोदभराई को लेकर एड बनाया था जिस पर बहुत चर्चा की गयी थी। जब भी इस तरीके के कास्ट या फिर किसी रस्म को लेकर एड बनाए जाते हैं वो ऐसे ही ट्रेंड करते हैं जिसके कारण या तो वो आखिर में हटा दिया जाता है या फिर टाइम के साथ लोग शांत हो जाते हैं। इसी तरह पहले एक बार तनिष्क ब्रांड ने मुस्लिम औरत की गोदभराई को लेकर एड बनाया था जिस पर बहुत चर्चा की गयी थी। इस एड को उस वक़्त इतना ज्यादा ट्रोल किया गया था कि आखिर में यह हटा दिया गया था और माफ़ी मांगली गयी थी।
अनुशंसित लेख