वैक्सीन के बाद कोरोना  – मेडिकल एक्सपर्ट के मुताबित ऐसे केसेस सामने आए हैं जब पूरी तरीके से वैक्सीन ले चुके इंसान को भी कोरोना हुआ है। ऐसे ही कुछ रिपोर्ट्स अभी बीते समय से सामने आयी हैं जब सभी को वैक्सीन भी लगती जा रही थी और उनकी कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आती जा रही थी।

क्यों हो रहा इंसान परेशान ?

जब ऐसे केसेस सामने आते हैं तो इंसान के मन में डर बैठ जाता है कि अब अगर वैक्सीन ही असर नहीं कर रही तो फिर क्या होगा कोरोना वायरस जैसी महामारी का हल। साल भर से कोरोना से लड़ते लड़ते इंसान के मन में कोरोना को लेकर भय बैठगया है इसलिए अब वो कैसे भी बस इस मुसीबत से बहार निकलना चाहता है।

मार्च के महीने में पुणे के दो डॉक्टर्स वैक्सीन के दोनों डोज़ के बावजूद भी पॉजिटिव हुए, गुजरता में भी एक हेल्थ ऑफिसियल दूसरे डोज़ के बावजूद पॉजिटिव हुआ और ऐसे ही पंजाब में भी 7 केसेस आये जहाँ वैक्सीन के पहले डोज़ के बाद भी लोग पॉजिटिव हुए।

WHO का क्या कहना है ?

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन लेने के बाद हमारी बॉडी में एंटी – बॉडी बनता है। इस एंटीबाडी के कारण ही सीरोलॉजी टेस्ट इंसान की रिपोर्ट पॉजिटिव कर देता है। हमारी बॉडी वैक्सीन से रेस्पॉन्ड करती है और एंटीबाडी बनाती है जिस के कारण ही आपका कोरोना रिजल्ट पॉजिटिव आ सकता है।

क्या आप दोनों वैक्सीन के बाद पॉजिटिव हो सकते हैं ?

सेंटर ऑफ़ डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन अभी इस मामले पर जांच कर रही है कि कैसे जिस इंसान ने दोनों कोविद वैक्सीन अच्छे से ले ली हैं उसको कोरोना हो सकता है।

ऐसा कई कारण की वजह से होता है जैसे कि –

1. सब की बॉडी अलग होती है जिस पर ट्रायल हुआ उसकी अलग और जिसको दवाई दी जा रही है उसकी अलग

2. वायरस के भी कई सारे वैरिएंट्स आ चुके हैं।

3. दवाई किस तरीके से दी जा रही है, स्टोर की जा रही है और यूज़ की जा रही है।

दूसरी वैक्सीन लेने के बाद भी आपको दो हफ्ते तक निगरानी में रखा जाता है क्योंकि आपका उतना समय आपकी बॉडी को रेस्पॉन्ड करने में लगता है। इसलिए सारे प्रीकॉशन्स फॉलो करते रहें जैसे कि मास्क पहनना, सेनिटाइस करना और सामाजिक दूरी बनाए रहना।

Email us at connect@shethepeople.tv