चेन्नई #metoo movement : क्या आपने कभी सोचा था कि आपके बच्चे स्कूल में भी सुरक्षित नहीं है? चेन्नई के टॉप स्कूलों का सच जानने के बाद हर कोई हैरान परेशान है। विद्या के मंदिर में टीचर बच्चो का यौन शोषण करते थे ,और बच्चे दर से किसी को कुछ नहीं बताते थे। लेकिन अब ये सच सबके सामने आ गया है और एक -एक कर के सभी स्कूलों की पोल खुल रही हैं।

चेन्नई के स्कूल्स में चौका देने वाला हादसा सामने आ रहा हैं। शहर की पुलिस को पिछले एक सप्ताह में करीब 100 शिकायतें मिली हैं, जबकि सोशल मीडिया पर गुमनाम शिकायतें तेजी से बढ़ रही हैं। आठ छात्रों ने औपचारिक शिकायत दर्ज कराई है जिसके कारण तीन शिक्षकों को गिरफ्तार किया गया है।

जिसे अब चेन्नई के स्कूलों के इन केसेस को #metoomovement के रूप में कहा जा रहा है। वहां छात्रों और पूर्व छात्रों को यौन शोषण का सामना करना पड़ रहा है, जो उन्होंने कक्षाओं के अंदर, खेल के मैदान पर और शहर के स्कूलों में कोविड -19 महामारी के कारण आयोजित ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान महसूस किए थे।

पुलिस को पिछले एक हफ्ते में करीब 100 शिकायतें मिली हैं, इसके अलावा सोशल मीडिया पर गुमनाम शिकायतें तेजी से बढ़ रही हैं। आठ छात्रों के औपचारिक शिकायत दर्ज कराने के बाद तीन शिक्षकों को आरोपों में गिरफ्तार किया गया है, जिसमें बलात्कार का प्रयास भी शामिल है। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग (SCPCR) ने शीर्ष छह स्कूलों के मैनेजमेंट को 4 से 10 जून तक अलग-अलग तारीखों पर पूछताछ के लिए उपस्थित होने के लिए कहा है।

SCPCR चेयरपर्सन, सरस्वती रंगास्वामी ने बताया कि इन स्कूलों में पद्म शेषाद्री बाला भवन (PSBB), शेनॉय नगर में सेंट जॉन की शाखा, चेट्टीनाड विद्याश्रम, केंद्रीय विद्यालय- CLRI, महर्षि विद्या मंदिर और सुशील हरि इंटरनेशनल रेजिडेंशियल स्कूल जैसे नामी स्कूल शामिल है। चेन्नई #metoo movement : बच्चों का यौन शोषण करते थे टीचर्स 

 

Email us at connect@shethepeople.tv