Complaint Filed Against Rana Ayyub: राणा अयूब के खिलाफ हुई कंप्लेंट फाइल, भगवा झंडे दिखाने वाले बच्चों को कहा टेररिस्ट

Complaint Filed Against Rana Ayyub: राणा अयूब के खिलाफ हुई कंप्लेंट फाइल, भगवा झंडे दिखाने वाले बच्चों को कहा टेररिस्ट Complaint Filed Against Rana Ayyub: राणा अयूब के खिलाफ हुई कंप्लेंट फाइल, भगवा झंडे दिखाने वाले बच्चों को कहा टेररिस्ट

SheThePeople Team

17 Feb 2022


Complaint Filed Against Rana Ayyub: हाल में ही राणा अयूब के खिलाड़ एक फाइल की गयी कर्णाटक जिजाब कंट्रोवर्सी को लेकर। राणा अयूब ने कर्णाटक में भगवा झंडे दिखाने वाले बच्चों को टेररिस्ट कहा। इसको लेकर एक एडवोकेट ने मुंबई पुलिस में कम्प्लेन फाइल की और इस कमेंट को अपमानजनक कहा।

किस ने की राणा अयूब के खिलाफ कम्प्लेन दर्ज?

इस एडवोकेट का नाम आशुतोष दुबे है और इन्होंने कहा कि अभी हुए बीबीसी के इंटरव्यू के दौरान जर्नलिस्ट और ऑथर राणा आयूब ने कहा कि "भगवा झंडे दिखाने वाले स्टूडेंट्स टेरोरिस्ट हैं" । इसी को लेकर दुबे ने इस मामले में जर्नलिस्ट राणा के खिलाफ एक्शन लेने को कहा है और इस मैटर पर ध्यान देने का कहा है।

कर्णाटक हाई कोर्ट में फ़िलहाल हिजाब कंट्रोवर्सी को लेकर केस चल रहा है। इस मामले में को लेकर बीजेपी कर्णाटक के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से डिटेल्स पब्लिश की गयी हैं। इस मामले को लेकर काफी कंट्रोवर्सी हुई है और बीजेपी की सभी ने आलोचना की है। इस में काफी सेंसिटिव इनफार्मेशन है जैसे कि फोटोज और नाम।

समाजवादी पार्टी की सीनियर लीडर रुबीना खानम ने इस कंट्रोवर्सी को लेकर कहा कि जो भी हाँथ हिजाब को छूने की कोशिश करेंगे वो हाँथ काट दिए जाएंगे। इनका कहना है कि जो कर्णाटक में हिजाब कंट्रोवर्सी चल रही है यह औरतों और महिलाओं को आत्म सम्मान को ठेस पहुंचाता है। इन्होंने यह भी कहा कि “चाहे तिलक हो, पगड़ी हो या फिर हिजाब हो सब कुछ एक इंडियन कल्चर को दर्शाता है और जो भी इन सब में पॉलिटिक्स ला रहा है वो बहुत नीचे गिर रहा है। 

क्या है हिजाब कंट्रोवर्सी?

यह मामला सबसे पहले एक उडीपी डिस्ट्रिक्ट के एक सरकारी PU कॉलेज से शुरू हुआ था। यह एक गर्ल्स कॉलेज था और यहाँ की मुस्लिम लड़कियां अचानक से हिजाब पहकर कॉलेज आने लगी थी। कॉलेज के टीचर्स ने इसको लेकर कहा कि यह पहले नॉर्मली जैसे सब बच्चे यूनिफार्म पहनकर आते हैं वैसे ही आती थीं लेकिन अचानक से फिर हिजाब पहनकर आने लगी। इन लड़कियों का यह भी कहना है कि अगर कॉलेज में एडमिशन के वक़्त इन्हें बताया गया होता कि इनको हिजाब पहकर एंट्री नहीं दी जाएगी तो इन्होंने किसी और कॉलेज में एडमिशन लिया होता।


अनुशंसित लेख