सीबीएसई बोर्डों में प्रियंका गाँधी : कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा ने सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ सेकेंडरी एजुकेशन द्वारा कक्षा 10 और 12 के लिए ऑफलाइन परीक्षा आयोजित करने के फैसले के खिलाफ छात्रों के पक्ष में उस समय रैली निकाली जब भारत के कई राज्यों में COVID-19 के मामलों में भारी उछाल देखा जा रहा है।

रिपोर्ट्स के अनुसार कक्षा 10 के लिए बोर्ड परीक्षा 4 मई से 7 जून के बीच और कक्षा 12 के लिए 4 मई से 15 जून के बीच आयोजित की जानी है।

ट्विटर पर बोलते हुए, 49 वर्षीय ने लिखा कि अभी महामारी की स्थिति के मद्देनजर, बोर्ड परीक्षा के लिए सबसे अच्छा विकल्प “या तो एक्साम्स को कैंसिल कर देना है, रीस्केड्यूल करना है या इस तरह से ऑर्गनाइज़ करना है जिसमें भीड़ वाले एग्जामिनेशन सेण्टर पर बच्चों की फिजिकल अपीयरेंस की आवश्यकता नहीं है”।

हाल ही में, राजनेता के पति बिज़नेसमैन रॉबर्ट वाड्रा ने घोषणा की कि उन्होंने वायरस के लिए पॉजिटिव टेस्ट किया है और उचित सावधानी बरत रहे हैं। गांधी और उनके दो बच्चों ने घोषणा के अनुसार वायरस को कॉन्ट्रैक्ट नहीं किया।

प्रियंका गांधी सीबीएसई बोर्ड में छात्रों की चिंताओं पर विचार करती हैं

कक्षा 10 और 12 के स्कूली छात्र ऑफलाइन एजुकेशन के ऑर्गनाइज़ेशन पर पुनर्विचार करने के लिए केंद्रीय शिक्षा बोर्ड से आग्रह कर रही हैं। पिटीशंस पर साइन करने वाले और  कैंसलबोर्डएक्स 2020 ’को ट्रेंड करने के लिए छात्र मांग कर रहे हैं कि केंद्र या तो एक्साम्स कैंसिल कर दे, जब तक कि COVID ​​-19 स्पाइक खत्म नहीं होता या उसके बजाय ऑनलाइन सब्सक्राइब  करे या उन्हें होल्ड कर ले।

CBSE ने कथित तौर पर परीक्षा केंद्रों पर छात्रों को उचित सावधानियों और सुरक्षा दिशानिर्देशों का आश्वासन देते हुए कहा कि एक्सामिनाशंस सेण्टर की संख्या में “40-50 प्रतिशत की वृद्धि की गई है ताकि सोशल डिस्टन्सिंग सुनिश्चित की जा सके।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 अप्रैल को, एक वर्चुअल प्रोग्राम परीक्षा पे चरचा में बोर्ड देने वाले  छात्रों के साथ बातचीत की, जहां उन्होंने महामारी के दौरान परीक्षा के बारे में अपनी चिंताओं को संबोधित किया।

छात्र और कई कंसर्नड पेरेंट्स, हालांकि,सेण्टर के फैसले से असंतुष्ट हैं। गांधी, जो हाल ही में असम और केरल में विधानसभा चुनाव अभियानों में लगी हुई थी, ने परीक्षा के कारण प्रेशर पर फोकस केंद्रित किया है, जो मौजूदा स्थिति में छात्रों की ख़राब मेन्टल हेल्थ का कारण बनेगा।

Email us at connect@shethepeople.tv