कांग्रेस पार्टी की नेता और पूर्व सांसद सुष्मिता देव ने दिया कांग्रेस पार्टी से इस्तीफ़ा

कांग्रेस पार्टी की नेता और पूर्व सांसद सुष्मिता देव ने दिया कांग्रेस पार्टी से इस्तीफ़ा कांग्रेस पार्टी की नेता और पूर्व सांसद सुष्मिता देव ने दिया कांग्रेस पार्टी से इस्तीफ़ा

SheThePeople Team

16 Aug 2021


सुष्मिता देव ने कांग्रेस छोड़ा: कांग्रेस पार्टी की नेता और पूर्व सांसद सुष्मिता देव (Sushmita Dev) ने छोड़ी पार्टी। पार्टी छोड़ने के बाद से ही उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट का बायो बदल दिया और खबरों के मुताबिक़ पार्टी के व्हाट्सएप ग्रुप से भी बाहर हो चुकी है।

देव ने अपने इस्तीफे का कोई विशेष कारण बताये बिना कांग्रेस पार्टी की प्रमुख सोनिया गाँधी को अपना इस्तीफ़ा सौप दिया। देव ने लिखा कि वह समाजसेवा का एक नया अध्याय शुरू कर रही है"। आपको बता दे की देव ऑल इंडियन महिला कांग्रेस मोर्चा की अध्यक्ष के पद पर थी। वह सात बार सांसद रहे संतोष मोहन देव की बेटी है और करीब तीन दशकों से कांग्रेस पार्टी से जुड़ी हुई थी।

सुष्मिता देव ने कांग्रेस छोड़ा: कुछ वक़्त पहले अपने ट्विटर अकाउंट बंद होने को लेकर खबरों में थी ये नेता

नीति उल्लंघन के आरोप में कई कांग्रेस पार्टी के प्रमुख नेताओं का अकाउंट ट्विटर द्वारा बंद किया गया था ,उसमे सुष्मिता देव का नाम भी शामिल था। दरअसल उन्होंने राहुल गांधी का एक ट्वीट शेयर किया था, जिसमें स्पष्ट रूप से एक नाबालिक रेप पीड़िता के परिवार की पहचान हो रही थी।

सुष्मिता देव कौन है ?

सुष्मिता देव एक राजनीतिक परिवार से आती है। उनके पिता कांग्रेस पार्टी के नेता और कैबिनेट मंत्री भी रह चुके है। देव को 2014 में असम की सिलचर सीट से संसद सदस्य के रूप में चुना गया था।

देव CAA-NRC विरोध पर अपनी पार्टी से अलग होने के मुद्दे पर भी सुर्खियों में आई थी। उन्होंने ने CAA कानून का समर्थन किया था और कहा था कि बराक घाटी क्षेत्र के लोगों, जहां से वह रहती हैं, ने विभाजन के पीड़ितों के संघर्षों को करीब से देखा था और इस तरह वे नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) के पक्ष में थी।

देव ने यह तर्क देते हुए बिल का समर्थन किया कि यह कानून ये सुनिश्चित करेगा कि देश में रहने वाले बांग्लादेशी हिंदुओं को भारतीय नागरिकता मिलनी चाहिए या नहीं। बहरहाल उन्होंने यह भी साफ़ किया कि वह सिर्फ CCA का समर्थन करेंगी अगर इसमें कुछ बदलाव किये जाए "खासकर अगर इसमें मुसलमानो को शामिल किया जाये। "


अनुशंसित लेख