मशहूर सैलिबिट्री शेफ पूजा ढींगरा बताती हैं कि जैसे ही कोरोना वाइरस की हैडलाइन ने मार्च में दस्तक देनी शुरू की और लॉकडाउन शुरू होने से पहले ही जब 40 रेस्तरां बंद करने का फैसला किया गया तभी उन्हें पता चल गया था कि उनको भी अपने ले 15 को बंद करना पड़ेगा।

image

10 साल से सफलतापूर्वक चलने के बाद ले15 को बंद करने का फैसला लिया गया। ये खबर बेकर औऱ मालकिन पूजा ढींगरा ने सीएनटी में पब्लिश्ड एक आर्टिकल में सबको बताई। ले15 के चार आउटलेट्स मुम्बई में स्थित हैं। पर पूजा की पेटीसरी पहले के जैसे चलती रहेगी।

मशहूर सैलिबिट्री शेफ पूजा ढींगरा ने अपना कैफ़े ले 15 बंद करने फैसला लिया है

पूजा उन एंट्रेपरेनर्स में से एक हैं जो अपने रेस्त्रां बिज़नेस में कठिन पर महत्वपूर्ण निर्णय ले रही हैं।

“अपने मन मे मैं जानती हूं की पहली बार मुझे कुछ कठिन पर तर्कसंगत निर्णय लेना ज़रुरी है। मैं अगर बिज़नेस की नज़र से देखूं तो मुझे पता चल गया था कि मैं कॉस्ट्स और ओवरहेड्स के साथ बिज़नेस नहीं कर पाउंगी। मुझे पता था कि इसे बन्द करना ही एक विकल्प है।”

अपने आर्टिकल में वो अपने ले15 का सफर को याद करके बताती हैं कि कैसे उन्होंने कुछ दिनों पहले ले15 कि दसवीं सालगिरह मनाई थी। उन्होंने 7 साल ले15 से ज़्यादा नही कमाया और एक ब्रांड को बनाने में कितनी मेहनत लगती है ये बताया।

वो अफसोस करती हैं कि काश उन्हें स्मार्ट काम करना आता होता। काश उन्हें ज़्यादा भरोसा ना करने की सलाह मिली होती। काश उन्हें अपने बिज़नेस के बारे में हर छोटी डिटेल पता होती। वो मानती हैं कि उनके बिज़नेस की शुरुआत बहुत अच्छी हुई पर एक अकॉउंटेंट पर ज़्यादा भरोसा करना उन्हें भारी पड़ा।

शी द पीपल से पिछले महीने एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने उन रेस्तरां मालिको की हालत के बारे में खुल के चर्चा की। उन्होंने कहा कि रेस्तरां को पता ही नही है कि आगे क्या होने वाला है, सारे बिल्स बढ़ते ही जा रहे हैं। हो क्या रहा है और उसके लिए प्लानिंग करने के बीच मे बैलेंस बनाना काफी ज़रूरी है। उन लोगों से बात करना ज़रूरी है जो सेम काम करते हैं और वैसे ही हालात में हैं ताकि आपको ये ना लगे कि आप अकेले इन सब से जूझ रहे हैं। वो करें जो आप के लिए महत्वपूर्ण है।

Email us at connect@shethepeople.tv