Covid-19 vaccine : कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर की भयावह स्थिति देखते हुए और तीसरी लहर के कहर से बचने के लिए केंद्र सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। खबरों के मुताबिक़ सरकार हर दिन 1 करोड़ लोगों के टीकाकरण की योजना बना रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार जुलाई के दूसरे या तीसरे हफ्ते से इस योजना पर काम शुरू हो जायेगा। इस योजना के ज़रिए वैक्सीन की 30 से 32 करोड़ खुराक की उपलब्धता सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा।

25 करोड़ खुराक हर महीने उपलब्ध कराने का दावा

केंद्र की इस योजना के मुताबिक COVISHIELD और Covaxin की 25 करोड़ खुराक हर महीने उपलब्ध कराने का दावा किया जा रहा है। इस वैक्सीन के अलावा, 5 से 7 करोड़ दूसरी वैक्सीन भी उपलब्ध कराई जाएगी। अन्य वैक्सीन में Biological E, सीरम का Novavax, Genova mRNA, Zydus Cadilla DNA वैक्सीन, स्पूतनिक वी भी शामिल है।

सूत्रों के मुताबिक़ अप्रैल के महीने में भारत में 75 हजार टीकाकरण केंद्र थे , जहां इस योजना को लागू किया जा सकता है। इससे सरकार का मकसद है कि हर टीका केंद्र पर हर रोज़ 100 से 150 लोगों को वैक्सीन लगाई जाए।

सिंगल शॉट वैक्सीन :

COVISHIELD वैक्सीन को सिंगल शॉट ही रखा जाए इस विषय पर चर्चा जारी है। विचार चल रहा है कि क्या वैक्सीन की सिंगल शॉट वायरस से लड़ने में प्रभावी साबित होगी। आपको बता दे कि जॉनसन एंड जॉनसन, स्पूतनिक लाइट और Covishield वैक्सीन के बनने का प्रोसेस एक ही है। जॉनसन एंड जॉनसन और स्पूतनिक लाइट सिंगल डोज की वैक्सीन हैं।

Mixing of Vaccines:

स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, Mixing of Vaccines (एक डोज किसी वैक्सीन की और दूसरी डोज किसी और वैक्सीन की) पर 1 महीने में स्टडी शुरू करने की योजना भी बनाई गई है। इस रिसर्च को पूरा होने में दो से ढाई महीने लगेंगे।

अब देखना यह है कि केंद्र सरकार की Covid-19 vaccine की ये नई योजना कितनी कारगर साबित होगी।

Email us at connect@shethepeople.tv