दीपा कर्माकर टोक्यो ओलंपिक : महिला जिम्नास्ट (Gymnast) दीपा करमाकर (Dipa Karmakar) की इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में पहुंचने की उम्मीदें समाप्त हो गई हैं। विश्व कप की एक और सीरीज के रद्द होने के कारण भारतीय जिम्नास्टों का टोक्यो पहुंचने का सफ़र मुश्किल कर दिया है। इस बार टोक्यो में ओलंपिक खेलों में भारतीय जिम्नास्ट नज़र नहीं आएंगे।

दो विश्व कप सीरीजों को रद्द किया गया

कोरोना वायरस महामारी के कारण दो विश्व कप सीरीजों को रद्द किया गया है, जबकि International Gymnastics Federation (FIG) ने मार्च में होने वाले एक अन्य विश्व कप को स्थगित कर दिया है।

रद्द किए गए विश्व कप में से एक का आयोजन इसी महीने और दूसरे वर्ल्ड कप का आयोजन अगले महीने होना था। world governing body of gymnastics ने Cottbus World Cup को रद्द कर दिया, जो 25 फरवरी को शुरू होने वाला था, और अज़रबैजान के बाकू में 4 मार्च से शुरू होने वाला विश्व कप भी रद्द हो चूका है।

दीपा करमाकर के लिए क्या अब कोई मौका नहीं?

27 वर्षीय दीपा करमाकर 2016 में रियो ओलंपिक में चौथे स्थान पर रहीं थी। 2017 में अपने ACL (anterior cruciate ligament) की चोट के इलाज के लिए उन्होंने सर्जरी कराई। घुटने की इस चोट ने उन्हें 2019 में जर्मनी में ओलंपिक क्वालीफायर से हटने के लिए मजबूर कर दिया था। चोट के कारण लगभग दो वर्षों के बाद, उन्होंने 2019 में तुर्की के मेर्सिन (Mersin) में एफआईजी आर्टिस्टिक जिम्नास्टिक वर्ल्ड चैलेंज कप (FIG Artistic Gymnastics World Challenge Cup) में गोल्ड मैडल जीतने वाली पहली भारतीय जिम्नास्ट बनकर इतिहास रच दिया।

द्रोणाचार्य अवार्ड हासिल कर चुके और दीपा करमाकर के कोच बिशेश्वर नंदी ने न्यूज एजेंसी INA से कहा, “हम तैयार हैं, लेकिन ओलंपिक क्वालीफिकेशन प्रणाली में बड़ा बदलाव आया है। क्वालीफिकेशन अंक हासिल करने के लिए कोई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट नहीं है। मुझे नहीं पता कि आगे की क्या प्रक्रिया होगी।” नंदी के अनुसार, “ओलंपिक का टिकट हासिल करने के लिए एथलीट को 90 अंक चाहिए होते हैं और फिलहाल दीपा के पास इसके आधे से भी कम अंक हैं। हम विश्व संस्था का आधिकारिक रुप से कुछ कहने का इंतजार कर रहे हैं।”

नंदी ने जानकारी दी कि 10 मार्च से शुरू होने वाला ओलंपिक क्वालीफायर दोहा विश्व कप स्थगित कर दिया गया है।

(दीपा कर्माकर टोक्यो ओलंपिक)

Email us at connect@shethepeople.tv