Delhi Cantt Rape-Murder Case: "बलात्कार के दौरान दम घुटने से हुई थी दलित लड़की की मौत"- पुलिस

Delhi Cantt Rape-Murder Case: "बलात्कार के दौरान दम घुटने से हुई थी दलित लड़की की मौत"- पुलिस Delhi Cantt Rape-Murder Case: "बलात्कार के दौरान दम घुटने से हुई थी दलित लड़की की मौत"- पुलिस

SheThePeople Team

22 Sep 2021


दिल्ली कैंट रेप मर्डर केस: दिल्ली कैंट इलाके में 9 साल की दलित लड़की से बलात्कार, हत्या के बाद जबरन अंतिम संस्कार मामले में आज एक नया खुलासा हुआ है। पुलिस द्वारा दायर चार्जशीट में कहा गया है कि दिल्ली कैंट के श्मशान के आरोपी पुजारी राधेश्याम ने कथित तौर पर बच्ची का यौन उत्पीड़न किया था। मामले में श्याम, 55, और तीन अन्य कर्मचारी - कुलदीप सिंह, 63, लक्ष्मी नारायण, 48, और सलीम अहमद, 49 - आरोपी हैं।

सभी आरोपियों ने लड़की के परिवार को ये बताया कि कूलर से पानी लाते समय बिजली का करंट लगने से उनकी बेटी की मौत हो गई और उन्होंने आनन-फानन में शव का अंतिम संस्कार कर दिया। हालांकि लड़की की माँ को उनकी बात पर यकीन नहीं हुआ। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ सार्वजनिक गवाहों और सीसीटीवी फुटेज जैसे सबूत इकट्ठे किये।

दिल्ली कैंट रेप मर्डर केस: आरोपी ने इससे पहले भी लड़की के साथ की थी अश्लील हरकते

पुलिस की चार्जशीट के अनुसार, श्याम ने पुलिस को बताया कि 2 अगस्त को उसने उस लड़की को देखा। लड़की श्मशान में पानी पीने और कभी-कभी नहाने जाती थी। चार्टशीट में यह भी खुलासा हुआ कि पुजारी ने इससे पहले भी कई बार उस बच्ची के साथ गलत व्यवहार किया था। उसने 9 साल की बच्ची को अश्लील जगह मालिश करने के लिए कहा था, और उसकी अश्लील सामग्री भी दिखायी थी।

बलात्कार के दौरान दम घुटने से हुई थी बच्ची की मौत

चार्जशीट के मुताबिक, उस दिन भी श्याम ने लड़की से मालिश के लिए कहा, जिस दौरान कुलदीप ने सुझाव दिया कि वे बच्चे का यौन शोषण करें। फिर श्याम ने सलीम को जलेबी खरीदने के लिए भेज दिया, जबकि उसने और कुलदीप ने बारी-बारी से लड़की का बलात्कार किया। पुलिस ने चार्टशीट में खुलासा किया कि बलात्कार के दौरान दम घुटने से लड़की की मौत हुई थी।

लड़की की मृत्यु के बाद उन्होंने उसके माता-पिता को यह बताने का फैसला किया कि उसकी मौत बिजली का झटका लगने से हुई है। यही नहीं उन्हें यकीन दिलाने के लिए उन्होंने बच्ची के शरीर पर पानी डाला। आरोपी श्याम ने लड़की की माँ के मन में डर पैदा किया और कहा कि अगर वह पुलिस कंप्लेंट करेगी तो उसकी बेटी का पोस्टमार्टम होगा, जिसके बाद उसके अंग निकाल लिए जायेंगे।

परिवार की अनुमति के बिना जबरन लगाई थी चिता को आग

यही नहीं पुलिस ने कहा कि उन्होंने कथित तौर पर बच्चे की मां को 20,000 रुपये की पेशकश की और मुफ्त में शव का अंतिम संस्कार करने की भी पेशकश की। माँ के मना करने के बावजूद उन्होंने लड़की की चिता तैयार कर दी है और उसमे आग लगा दी, जैसे ही माँ चिल्लाने लगी तो मोहल्ले के लोग शमशान में इकट्ठा हो गए।

चार्टशीट में पुलिस ने कहा कि श्याम ने चिता में एक चादर और एक मोबाइल फोन भी फेंका था। रेप के लिए कथित तौर पर उसी बेडशीट का इस्तेमाल किया गया था, और वह मोबाइल फोन था जिस पर श्याम पोर्न देखता था।


अनुशंसित लेख