First Omicron Case In West Bengal: वेस्ट बंगाल में निकला पहला ओमिक्रोन का मामला, 7 साल के बच्चे को हुआ कोरोना

First Omicron Case In West Bengal: वेस्ट बंगाल में निकला पहला ओमिक्रोन का मामला, 7 साल के बच्चे  को हुआ कोरोना First Omicron Case In West Bengal: वेस्ट बंगाल में निकला पहला ओमिक्रोन का मामला, 7 साल के बच्चे  को हुआ कोरोना

SheThePeople Team

15 Dec 2021


First Omicron Case In West Bengal: वेस्ट बंगाल में हैदराबाद से आया एक 7 साल का लड़का ओमिक्रोन पॉजिटिव निकला है। इस लड़के के साथ साथ इसके माता पिता को भी ओमिक्रोण निकला है। यह वेस्ट बंगाल का पहला ओमिक्रोन का केस है। हेल्थ डिपार्टमेंट ने यह मामला कन्फर्म किया है।

वेस्ट बंगाल में ओमिक्रोन का पहला मामला कहाँ निकला?

यह 7 साल का लड़का बंगाल अबू दबी से आया है। अबू दबी से यह पहले हैदराबाद आया था और फिर वहां से बंगाल आया है। इसका अभी मुर्शिदाबाद के लोकल अस्पताल में इलाज चल रहा है। बच्चे और इसके माता पिता अगर सबको गिना जाए तो वेस्ट बंगाल में कुल 3 नए मामले सामने आये हैं। इसके साथ ही यह छोटे बच्चों पर और ध्यान देने की जरुरत पर भी ध्यान केंद्रित करता है।

भारत में ओमिक्रोन के कुल मामले कितने हो चुके हैं?

वेस्टबेंगल में कोरोना के नए मामले आज 418 निकले हैं और यह दिनों के साथ कम होते जा रहे हैं। इसके साथ, भारत में ओमिक्रोन वेरिएंट की संख्या 50 का आंकड़ा पार कर गई है, और बुधवार को 67 पर पहुंच गई है। इससे पहले मंगलवार को, राजस्थान और दिल्ली दोनों ने कोरोनवायरस के ओमिक्रोन संस्करण के चार मामले दर्ज किए। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने एएनआई ने कहा, “चार और ओमिक्रोन मामले सामने आए हैं। यह पेशेंट्स स्टेबल स्थिति में है। राज्य में पिछले सभी ओमिक्रोन मामलों में कोविड​​-19 नेगेटिव आया है।

इस बीच, एक सीनियर ऑफिसियल ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया है, कि देश में जनवरी-फरवरी के दौरान ओमिक्रोन मामलों में भारी उछाल देखा जा सकता है। हालांकि, इन्फेक्शन हल्के होने की संभावना है।

हेल्थ डायरेक्टर डॉ जीएस राव ने कहा, “वेरिएंट को 2.5 दिनों का दोगुना समय और कुछ यूरोपियन देशों में 1.5 दिनों में भी देखा जाता है, इसलिए हम सभी से मास्क पहनने और सामूहिक समारोहों से बचने का आग्रह करते हैं।”

Omicron Variant In India 

इस कोरोना के नए वैरिएंट का नाम B. 1. 1. 529 है। साइंटिस्ट एक कहना है कि इस नए वायरस से ड़रने की और सावधानी बरतने की जरुरत है क्योंकि यह इंडिया में मिले वैरिएंट डेल्टा से भी ज्यादा खतरनाक है। इस वायरस के आने से वापस से मार्केट बंद होने का और स्टॉक मार्केट गिरने का डर सभी को लग रहा है।

सबसे पहले यह वायरस बोत्सवाना में मिला था जो कि साउथ अफ्रीका में है इसलिए इसको पहले बोत्सवाना नाम से बुलाया जा रहा था। इसके लिए यूनियन हेल्थ मिनिस्ट्री के सेक्रेटरी राजेश भूषण ने लेटर भेजा था और कहा था कि बोत्सवाना वैरिएंट के म्यूटेशन बहुत ज्यादा हैं और यह पब्लिक के लिए काफी सीरियस हो सकता है।

 


अनुशंसित लेख