Medical Negligence के कारण 17 वर्षीय फुटबॉलर प्रिया की मौत हो गई

17 साल की फुटबॉलर आर प्रिया की कथित चिकित्सकीय लापरवाही के कारण कई अंगों के काम करना बंद कर देने से डेथ हो गई। आइए जानते हैं पूरी खबर आज के न्यूज़ ब्लॉग में -

Vaishali Garg
15 Nov 2022
Medical Negligence के कारण 17 वर्षीय फुटबॉलर प्रिया की मौत हो गई

Footballer Priya passes away

Footballer Priya passes away: अपने दाहिने घुटने में फटे ligaments को ठीक करने के लिए सर्जरी कराने के कुछ दिनों बाद प्रिया का निधन हो गया। शुरुआती सर्जरी और बाद में दो अनुवर्ती सर्जरी के एक हफ्ते बाद, प्रिया का पैर काटना पड़ा। उसके बाद राजीव गांधी गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल (RGGGH) में मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर के कारण उनकी मृत्यु हो गई।

पेरियार नगर के सरकारी अस्पताल के दो डॉक्टरों, जहां प्रिया की आर्थोस्कोपिक लिगामेंट को ठीक किया जा रहा था, चिकित्सकीय लापरवाही के लिए निलंबित कर दिया गया। कथित चिकित्सकीय लापरवाही के कारण किशोरी को विच्छेदन से गुजरना पड़ा, जिसके बाद दोनों डॉक्टरों को कार्रवाई का सामना करना पड़ा।

फुटबॉलर प्रिया का 17 साल की उम्र में Medical Negligence के कारण निधन

प्रारंभिक सर्जरी के बाद ब्लीडिंग को नियंत्रित करने के लिए उपयोग की जाने वाली संपीड़न पट्टी ने उसके पैर के रक्त प्रवाह में समस्या पैदा कर दी। जिसका नतीजा यह हुआ कि प्रिया को आरजीजीजीएच में विच्छेदन से गुजरना पड़ा।

फुटबॉलर शारीरिक शिक्षा विभाग में चेन्नई के क्वीन मैरी कॉलेज में प्रथम वर्ष की छात्रा थी। 26 अक्टूबर को पेरियार नगर अस्पताल के डॉक्टरों ने उसके दाहिने घुटने में लिगामेंट फटने का पता लगाया, डॉक्टरों ने कहा कि सर्जरी के माध्यम से लिगामेंट को ठीक करना होगा। अस्पताल में शुरुआती सर्जरी 7 नवंबर को की गई और उसी शाम प्रिया ने पैरों में दर्द की शिकायत की थी। तब उस अस्पताल की डॉक्टर ने उसे एक टाइप पट्टी प्रिस्क्राइब्ड की।

प्रिया के पैर में खून के थक्के जमने की आशंका के कारण उसे आरजीजीजीएच में ट्रांसफर कर दिया गया था। डॉक्टरों के परीक्षण के बाद पता चला कि उसके दाहिने पैर के टिश्यू मर चुके थे और केवल विच्छेदन ही उसकी जान बचा सकता था। 9 नवंबर को प्रिया का पैर काट दिया गया था लेकिन उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ। 14 नवंबर को आरजीजीजीएच में उनकी दूसरी अनुवर्ती सर्जरी हुई और अगले दिन उनका निधन हो गया।

स्वास्थ्य मंत्री सुब्रमण्यम ने कहा डॉक्टरों पर की जाएगी कड़ी कार्यवाही

राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच के आदेश के बाद पेरियार नगर अस्पताल के दो डॉक्टरों का तबादला कर दिया गया था, जिसमें उनकी ओर से लापरवाही पाई गई थी। उन्हें निलंबित कर दिया गया और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मा सुब्रमण्यम ने कहा कि उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सुब्रमण्यम ने संवाददाताओं से कहा कि अस्पताल में आर्थोस्कोपी सफलतापूर्वक किया गया था, लेकिन प्रिया के पैर पर लपेटी गई संपीड़न पट्टी बहुत कसकर लपेटी गई थी, जिससे नसों को नुकसान पहुंचाया था।

अनुशंसित लेख