GES 2017: जानिए इवांका ट्रम्प के भाषण की हाइलाइट्स

Published by
STP Hindi Editor

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की बेटी और एडवाइजर इवांका ट्रम्प ने GES 2017 में अपने भाषण में अनेक मुद्दों पर बात करि.

भारत के प्रधान मंत्री मोदी के लिए

इवांका ने भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि बचपन मैं चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री बनने तक उन्होंने यह साबित कर दिया है कि बदलाव मुमकिन हैं और अब वह वही वादा देश के लाखों लोगों से कर रहे हैं.

भारत के लोगों के लिए

इवांका ने भारत के लोगों को मुबारकबाद देते हुए कहा कि उन्होंने एन्त्रेप्रेंयूर्शिप और मेहनत के ज़रिये १३ करोड़ लोगों को गरीबी से निकला है.

महिला एन्त्रेप्रेंयूर्स के लिए

उन्होंने बोला कि वह बहुत खुश हैं कि पहली बार १५०० एन्त्रेप्रेंयूर्स जो उस समिट में भाग ले रही थी उसमें से ज़्यादातर महिलाएं थी.

केवल जब महिलाएं सशक्त होती हैं, हमारे परिवार, हमारी अर्थव्यवस्थाएं, और हमारे समाज अपनी पूरी क्षमता तक पहुंचेंगे.

पढ़िए : यदि एन्त्रेप्रेंयूर बनने के पीछे एक प्रेरणा शक्ति है, तो वह जुनून होना चाहिए – सुभाश्री बासु

महिलाओं की एन्त्रेप्रेंयूर्स बनने की ज़रुरत पर

बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं को एन्त्रेप्रेंयूर्स किसी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए बनती हैं. कुछ को वो फ्लेक्सिबिलिटी नहीं दी जाती जो अपने परिवार का ध्यान रखने के लिए चाहियें. किसी को प्रोफेशनल स्पोंसर्स नहीं मिले तो किसी को प्रमोशन के लिए विचार नहीं दिया गया.

महिलाओं और समस्याओं पर

उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे देश हैं जहाँ महिलाओं को प्रॉपर्टी की मालकिन होने पर पाबंधी हैं. वह स्वतंत्रता से घूम नहीं सकती या अपने पति की सहमति के बिना काम नहीं कर सकती. कुछ और देशों में पारिवारिक दबाव इतना होता हैं कि महिलाओं को बाहर काम करने कि अनुमति नहीं दी जाती.

महिलाओं के काम करने के फायदे

जब महिलायें काम करती हैं तो एक अद्वितीय गुणक प्रभाव होता हैं. महिलाएं पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज़्यादा काम देती हैं, उन्हें मेंटरशिप और नेटवर्किंग प्रदान करती हैं.

ग्लोबल एन्त्रेप्रेंयूर्शिप समिट पर

इवांका ने कहा कि वह वहां मौजूद सब लोगों को एक-दुसरे से सीखने और हमारे सामाज में बाधाओं को दूर करने के नए तरीकों को खोजने के लिए प्रोत्साहित करती हैं जिससे कि महिलाओं को नए सिरे से स्वतंत्र, सफल होने के लिए सशक्त बनाया जाए और हमारे बच्चों को एक उज्ज्वल भविष्य छोड़ने में सक्षमता मिले.

एक बेहतर दुनिया का निर्माण करने पर

इवांका ने कहा कि हमारी दुनिया कितनी बेहतर होगी यदि पुरुष और महिलाएं सभी एक बड़ा सपना, उच्च लक्ष्य और एक और अधिक समृद्ध भविष्य के लिए एक साथ काम करें। एक भविष्य जहां सभी मां और पिता अपने परिवार के लिए कड़ी मेहनत कर सकते हैं और बेहतर जीवन बिता सकते हैं – जहां सभी लड़के और लड़कियां स्कूल जा सकते हैं, अपनी प्रतिभा पा सकते हैं, और अपनी महत्वाकांक्षाओं को आगे बढ़ा सकते हैं – और जहां सभी देशों के लोग रह सकते हैं और साथ काम कर सकते हैं.

पढ़िए : डिजिटल ग्रामीण एन्त्रेप्रेंयूर्शिप को बदल रहा है – कहती हैं हैप्पी रूट्स की रीमा साठे

Recent Posts

Dear society …क्यों एक लड़का – लड़की कभी बेस्ट फ्रेंड्स नहीं हो सकते ?

“लड़का और लड़की के बीच कभी mutual understanding, बातचीत और एक हैल्थी फ्रेंडशिप का रिश्ता…

50 mins ago

पीवी सिंधु की डाइट: जानिये भारत के ओलंपिक मेडल कंटेस्टेंट सिंधु के मेन्यू में क्या है?

सिंधु की डाइट मुख्य रूप से वजन कंट्रोल में रखने के लिए, हाइड्रेशन और प्रोटीन…

1 hour ago

टोक्यो ओलंपिक: पीवी सिंधु का सामना आज सेमीफाइनल में चीनी ताइपे की Tai Tzu Ying से होगा

आज के मैच में जो भी जीतेगा उसका सामना आज दोपहर 2:30 बजे चीन के…

2 hours ago

COVID के समय में दोस्ती पर आधारित फिल्म बालकनी बडीज इस दिन होगी रिलीज

एक्टर अनमोल पाराशर और आयशा अहमद के साथ बालकनी बडीज में दिखाई देंगे। इस फिल्म…

2 hours ago

COVID-19 डेल्टा वैरिएंट है चिकनपॉक्स जितना खतरनाक, US की एक रिपोर्ट के मुताबित

यूनाइटेड स्टेट्स के सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल की एक स्टडी में ऐसा सामने आया कि…

2 hours ago

किसान मजदूर की बेटी ने CBSE कक्षा 12 के रिजल्ट में लाये पूरे 100 प्रतिशत नंबर, IAS बनकर करना चाहती है देश सेवा

उत्तर प्रदेश के बडेरा गांव की एक मज़दूर वर्कर की बेटी अनुसूया (Ansuiya) ने केंद्रीय…

2 hours ago

This website uses cookies.