फ्लाइट लेफ्टिनेंट गुंजन सक्सेना की रियल लाइफ की कहानी पर आधारित फिल्म नेटफ्लिक्स पर प्रीमियर के लिए तैयार है। सक्सेना भारत में हेलिकॉप्टर उड़ाने वाली पहली महिला हैं। उन्होंने 18 साल पहले कारगिल में कई घायल भारतीय सैनिकों की जान बचाई थी। वह युद्ध क्षेत्र में जाने वाली पहली भारतीय महिला वायु सेना अधिकारी थीं।

image

सक्सेना पहली भारतीय महिला कॉम्बेट एविएटर थीं जिन्होंने 1999 के कारगिल युद्ध में घायल सैनिकों को बचाया था।

जाह्नवी कपूर बायोपिक गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल में मुख्य भूमिका निभा रही हैं। यह फिल्म पहले 2 अप्रैल को सिनेमा में रिलीज़ होने वाली थी। लेकिन, इस साल कई फिल्मों की तरह, इस फिल्म ने भी ऑनलाइन प्लेटफार्म  रिलीज़ को चुना है। नेटफ्लिक्स इंडिया ने मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल पर इसका ओफ़फिशिअल टीज़र रिलीज़ किया। फिल्म में पंकज त्रिपाठी और अंगद बेदी भी महत्वपूर्ण भूमिकाओं में हैं।

और पढ़ें: विद्या बालन की फिल्म शकुंतला देवी अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ के लिए तैयार

सक्सेना ने भारतीय वायु सेना में शामिल होने के लिए और महिला पायलट बनने के लिए बहुत सी रूढ़ियों को तोड़ दिया। फ्लाइट लेफ्टिनेंट श्रीविद्या राजन के साथ, सक्सेना ने ऑपरेशन विजय को एक ऐतिहासिक घटना बनाया। उन्होंने युद्ध क्षेत्र में चीता हेलीकॉप्टर उड़ाया और कारगिल युद्ध के दौरान घायल सैनिकों को बचाया।

गुंजन सक्सेना ऐसी फिल्म है जो एक महिला के बारे में एक सच्ची कहानी पर आधारित है, जिसने आने वाले वर्षों में कई लोगों को साहस और प्रेरणा दी है। – निर्माता करण जौहर

सक्सेना, जो उधमपुर के एक आर्मी परिवार से हैं। अपने कॉम्बैट एविएटर पिता और अपने भाई की वर्दी को देखकर बड़े होने के बाद, सक्सेना को उनके असली करियर का पता चल गया। कारगिल युद्ध के दौरान, सक्सेना श्रीनगर में ऑपरेशनल जोन में तैनात थी। उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। वह उन 25 महिलाओं में से एक थीं जो भारतीय वायुसेना के ट्रेनी पायलटों के पहले बैच का हिस्सा थीं।

और पढ़ें: कंगना रनौत की फिल्म तेजस का फर्स्ट लुक रिलीज़

Email us at connect@shethepeople.tv