महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड शायद इस साल कोविड-19 के बढ़ते कैसेस के कारण HSC और SSC की बोर्ड परीक्षा पोस्टपोंड कर सकती हैं। HSC SSC की परीक्षा पोस्टपोंड 

राज्य का शिक्षा विभाग अभी भी इस विषय पर बातचीत कर रहा है और इसी हफ्ते के अंदर एक अंतिम निर्णय के साथ सामने आएगा।

“मैं अभी इस बारे में कुछ नहीं कह सकती परंतु, हां, एक अंतिम निर्णय इसी हफ्ते के अंदर अंदर लिया जाएगा। मैं सभी स्टेकहोल्डर्स से मिलूंगी और उनसे परीक्षा के बारे में उनके विचार पूछूँगी” TOI से बातचीत में उन्होंने कहा। HSC SSC की परीक्षा पोस्टपोंड 

उन्होंने फिर बताया कि यदि परीक्षा आगे बढ़ानी है तो मुख्यमंत्री के ऑफिस (सीएमओ) से कंसेंट लेना ज़रूरी है। शिक्षा विभाग के कर्मचारी बोर्ड की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और जल्द ही एक सही निर्णय भी लेंगे।

विद्यार्थी और अभिभावक परेशान

महाराष्ट्र हायर सेकेंडरी सर्टिफिकेट (HSC) और सीनियर सेकेंडरी सर्टिफिकेट (SSC) परीक्षा 23 अप्रैल और 29 अप्रैल से क्रमशः शुरू होने वाली है। महाराष्ट्र में कोरोना के केसेस बढ़ते ही जा रहे हैं, इसलिए शिक्षा विभाग को इस विषय पर जल्द ही कोई निर्णय लेना होगा। इस कारण विद्यार्थी और उनके अभिभावक इन सब चीजों को लेकर परेशान दिखाई दे रहे हैं। वे चाहते हैं कि एग्जाम मई महीने के अंत तक सुरक्षा कारणों से पोस्टपोन हो जाए।

वास्तव में, कुछ अभिभावकों के समूह ने ऑनलाइन पिटिशन, चेंज.ओआरजी पर एग्जाम ऑनलाइन होने की डिमांड भी चालू कर दी है।

वर्षा गायकवाड परीक्षा को लेकर दो अलग अप्रोच के बारे में बात करती हैं

वर्षा गायकवाड बोर्ड एग्जाम को लेकर दो डिफरेंट अप्रोच के बारे में बताती हैं। प्लान ‘ए’ के मुताबिक SOP जैसे एक्स्ट्रा टाइम, दूसरी बार अटेम्प्ट या होम सेंटर, यह सब फॉलो होंगे। इसके लिए सारी गाइडलाइन जारी कर दी जाएंगी। प्लान ‘बी’ में एग्जाम के पोस्टपोन होने की बात की गई है, जिसके लिए सीएमओ से परमिशन जरूरी है।

महाराष्ट्र सरकार इस परीक्षा के निर्णय को लेकर शुक्रवार तक अपना बयान जारी कर देगी।

Email us at connect@shethepeople.tv