हैदराबाद रेप केस: क्या 6 साल की बच्ची से रेप और हत्या मामले के आरोपी ने की है आत्महत्या? यहाँ जाने सच

हैदराबाद रेप केस: क्या 6 साल की बच्ची से रेप और हत्या मामले के आरोपी ने की है आत्महत्या? यहाँ जाने सच हैदराबाद रेप केस: क्या 6 साल की बच्ची से रेप और हत्या मामले के आरोपी ने की है आत्महत्या? यहाँ जाने सच

SheThePeople Team

16 Sep 2021


हैदराबाद माइनर रेप केस: हैदराबाद रेप केस में फरार आरोपी की लाश घानापुर रेलवे ट्रैक पर पड़ी मिली। तेलंगाना पुलिस ने गुरुवार को ट्वीट के ज़रिये आरोपी की मौत की खबर की पुष्टि की। पुलिस ने कहा कि आरोपी के हाथ पर बने टैटू से उसकी लाश की पहचान की गई है। मामले आरोपी व्यक्ति, जिसका नाम राजू था, ने 9 सितंबर को अपने पड़ोस में रहने वाली 6 साल की लड़की के साथ रेप और हत्या की थी। घटना के बाद से ही राजू फरार था और इलाके के गुस्साए लोग उस पर सख्त से सख्त कार्यवाही की मांग करते हुए प्रोटेस्ट कर रहे थे।

https://twitter.com/TelanganaDGP/status/1438378108575313923?s=20

क्या आरोपी ने की है आत्महत्या?

द न्यूज मिनट में पुलिस द्वारा दिए गए एक बयान में कहा कि जब पुलिस उसका पीछा कर रही थी तो आरोपी कथित तौर पर एक ट्रेन के सामने कूद गया। अधिकारियों ने इसे 'आत्महत्या' का मामला बताया है। मामले में अभी पूरी जानकारी नहीं मिल पाई है।

हैदराबाद माइनर रेप केस को लेकर हाल ही में तेलंगाना के मंत्री ने दिया था विवादित बयान:

15 सितंबर को मंत्री चमकुरा मल्ला रेड्डी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि नाबालिग से रेप और हत्या के मामले में आरोपियों का इनकाउंटर किया जाना चाहिएI “हम आरोपी को पकड़ लेंगे और उसका इनकाउंटर करेंगे।” तेलंगाना के श्रम मंत्री ने आगे कहा कि “हम पीड़ित परिवार के साथ खड़े रहेंगे। हम परिवार को सहायता प्रदान करेंगे। हम उन्हें सांत्वना देंगे।”

हैदराबाद माइनर रेप केस:

9 सितंबर को हैदराबाद के सैदाबाद में छह साल की बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या की घटना सामने आई थी। मामले में आरोपी उसके घर के पास रहने वाला 30 वर्षीय व्यक्ति है। आरोपी व्यक्ति ने कथित तौर पर टॉफी का लालच देकर नाबालिग को अपने घर ले गया। जब बच्ची के माता-पिता को उनकी बेटी कही नहीं मिली तो उन्होंने पुलिस स्टेशन में उसके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई।

छानबीन के बाद बच्ची का शव शाम को उनके पड़ोसी राजू के घर के अंदर मिला। उसके बाद पुलिस ने बलात्कार और हत्या से जुड़ी धाराओं और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (POCSO) अधिनियम 2012 के तहत मामला दर्ज किया था।


अनुशंसित लेख