Advertisment

अमेरिका में एक और भारतीय छात्र की मौत: चिंताजनक घटनाओं का सिलसिला जारी

उमा सत्य साईं गड्डे, ओहियो के क्लीवलैंड में पढ़ाई कर रहे एक भारतीय छात्र थे। उनकी शुक्रवार को हुई असामयिक मृत्यु ने अमेरिका में भारतीय छात्र समुदाय को स्तब्ध कर दिया है।

author-image
Vaishali Garg
New Update
Death

File Representative Image.

Another Indian Student Found Dead In US: अमेरिका में भारतीय छात्रों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। हाल ही में न्यूयॉर्क स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने एक बयान जारी कर अमेरिका के ओहियो राज्य के क्लीवलैंड में एक भारतीय छात्र, उमा सत्य साईं गड्डे के दुर्भाग्यपूर्ण निधन की पुष्टि की। यह घटना इस वर्ष अमेरिका में भारतीय मूल के छात्रों की इस तरह की 10वीं मौत है।  

Advertisment

अमेरिका में एक और भारतीय छात्र की मौत

उमा सत्य साईं गड्डे: कौन थे वे?

उमा सत्य साईं गड्डे, ओहियो के क्लीवलैंड में पढ़ाई कर रहे एक भारतीय छात्र थे। उनकी शुक्रवार को हुई असामयिक मृत्यु ने अमेरिका में भारतीय छात्र समुदाय को स्तब्ध कर दिया है। गड्डे की मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन क्लीवलैंड की स्थानीय पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Advertisment

भारतीय वाणिज्य दूतावास द्वारा सहायता का आश्वासन

वाणिज्य दूतावास ने भारत में गड्डे के परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है और उन्हें हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया है, जिसमें उनके पार्थिव शरीर को वापस लाने में मदद भी शामिल है। गड्डे की मौत की घटना विदेशों में भारतीय छात्रों की सुरक्षा को लेकर बढ़ती चिंताओं को और बढ़ा देती है। 

अस्पष्ट जानकारी वाली एक और घटना

Advertisment

फिलहाल गड्डे की मौत के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं मिल पा रही है। यह दुर्घटना थी, किसी तरह का षड्यंत्र था या कोई मेडिकल इमरजेंसी, अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं है। 

न्यूयॉर्क स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने परिवार के संपर्क में रहने और मामले की जांच में मिली किसी भी अपडेट को साझा करने का वादा किया है।

अमेरिका में भारतीय छात्रों के लिए असुरक्षा का माहौल

Advertisment

गड्डे की मौत अमेरिका में रहस्यमय परिस्थितियों में भारतीय छात्रों की जान जाने के परेशान करने वाले रुझान की नवीनतम घटना है। पिछले महीने, क्लीवलैंड, ओहियो से ही एक अन्य भारतीय छात्र मोहम्मद अब्दुल अराफत रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था, जबकि उसके परिवार को उसकी सुरक्षित रिहाई के लिए फिरौती की मांग मिली थी।

इस साल की शुरुआत में, कोलकाता के एक 34 वर्षीय शास्त्रीय नृत्यांगक कलाकार अमरनाथ घोष को सेंट लुइस, मिसौरी में गोली मार दी गई थी। वहीं, गंटूर के एक अन्य 20 वर्षीय छात्र पारुचुरी अभिजीत, जो बोस्टन यूनिवर्सिटी में पढ़ रहा था, की हत्या कर दी गई और पास के जंगल में उसका शव फेंक दिया गया। गौर करने वाली बात यह है कि ये सभी मामले सिर्फ मार्च के आसपास के हैं और जब हम अभी साल की पहली तिमाही भी पूरी नहीं कर पाए हैं, तब तक अमेरिका में भारतीय छात्रों केखिलाफ जघन्य अपराधों के ऐसे 10 मामले सामने आ चुके हैं।

विदेश में भारतीय समुदाय

Advertisment

गड्डे के निधन की खबर ने निश्चित रूप से क्लीवलैंड और पूरे अमेरिका में भारतीय समुदाय को झकझोर कर रख दिया है। सोशल मीडिया पर निश्चित रूप से इस युवक के लिए श्रद्धांजलि और शोक संदेशों की भरमार होगी।

इन चिंताजनक घटनाओं के बाद, वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास और पूरे राज्य में भारतीय वाणिज्य दूतावासों ने अमेरिका के विभिन्न विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे भारतीय छात्रों के साथ एक वर्चुअल संवाद किया। इस वर्चुअल संवाद में लगभग 150 भारतीय छात्र संघ के पदाधिकारियों और अमेरिका के 90 से अधिक विश्वविद्यालयों के विभिन्न भारतीय छात्रों ने भाग लिया।

संवाद मंच में न्यूयॉर्क, सैन फ्रांसिस्को, अटलांटा, सिएटल, शिकागो आदि राज्यों में स्थित भारतीय दूतावासों के अधिकारियों और महा वाणिज्य दूतों को भी शामिल किया गया। इस संवाद का उद्देश्य पूरे देश में भारतीय छात्रों की भलाई और सुरक्षा को संबोधित करना और व्यापक भारतीय समुदाय में संबंधों को मजबूत करना था।

उम्मीद की जाती है कि अमेरिकी अधिकारियों के साथ मिलकर भारतीय दूतावास इन अपराधों की गहन जांच करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि विदेश में भारतीय छात्रों के लिए सुरक्षित माहौल बने। यह घटना विदेश में पढ़ाई करने के इच्छुक भारतीय छात्रों के लिए एक चेतावनी के रूप में भी काम करती है। उन्हें सलाह दी जाती है कि वे अपने माता-पिता और स्थानीय भारतीय दूतावास के साथ लगातार संपर्क में रहें और अपने आसपास के वातावरण के प्रति सतर्क रहें।

Student Found Dead In US अमेरिका भारतीय छात्र की मौत Indian Student Found Dead In US
Advertisment