Jharkhand News: झारखंड में महिला की पीटपीट कर हत्या, पड़ोसियों को काला जादू का था शक

Jharkhand News: झारखंड में महिला की पीटपीट कर हत्या, पड़ोसियों को काला जादू का था शक Jharkhand News: झारखंड में महिला की पीटपीट कर हत्या, पड़ोसियों को काला जादू का था शक

SheThePeople Team

29 Oct 2021


Jharkhand News: झारखण्ड में, गुरुवार सुबह मांगड़ गांव से कुछ दूरी पर महिला का आधा नग्न शव देखा गय। इसकी खबर गांव वालों ने तुरंत पुलिस को बताई। एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि डायन शिकार के एक अन्य मामले में, एक 55 वर्षीय महिला को उसके दो पड़ोसियों ने कथित तौर पर काला जादू करने के आरोप में पीट-पीट कर मार डाला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने 2 आरोपियों को इस मामले के लिए गिरफ्तार कर लिया है।

Jharkhand News: झारखंड में महिला की पीटपीट कर हत्या, पड़ोसियों को काला जादू का था शक

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी चंद्रशेखर आजाद ने बताया कि बुधवार शाम तक महिला की कथित तौर पर बेरहमी से पिटाई की गई। उसे बचाने के लिए मौके पर पहुंचे उसके पति को हमलावरों ने भगा दिया। अधिकारी ने बताया कि गुरुवार सुबह मांगड़ गांव से कुछ दूरी पर महिला का आधा नग्न शव देखा गया और ग्रामीणों ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जिन्होंने शव को कुछ ही दूर झाड़ी में फेंक दिया था।स्थानीय लोगों ने कहा कि पड़ोसियों में से एक की पत्नी की शिकायत के बाद महिला पर हमला किया गया और उसके साथ मारपीट की गई। दरअसल पडोसी महिला का कहना था कि जब से मृत महिला ने उसी कलाई पकड़ी थी वो अस्वस्थ महसूर कर रही थी। इन सभी बातों से ये मामला काला जादू और अंधविश्वाश का मालूम होता है।

Jharkhand News: महिला पर डायन होने का आरोप लगाया गया था

पीड़िता के पति ने पुलिस को बताया कि उस पर डायन होने का आरोप लगाया गया था और ग्रामीणों द्वारा उसे प्रताड़ित किया गया था। उनके खिलाफ गांव में पहले भी ग्राम सभा भी हो चुकी है। पुलिस अधिकारी आज़ाद ने कहा कि पहली नज़र ये ये मामला कोई पुराणी रंजिश या व्यक्तिगत दुश्मनी के कारन हुई हत्या नज़र आती है। पुलिस ने कहा कि वह मामले की जांच पूरी होने से पहले हत्या के जादू-टोना और डायन वाले एंगल की पुष्टि करने में असमर्थ है।

2019 के नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों से पता चला है कि झारखंड डायन शिकार के मामलों में तीसरे स्थान पर था और अपराध से संबंधित 15 हत्याएं दर्ज की गईं। 22 हत्याओं के साथ छत्तीसगढ़ सूची में शीर्ष पर था। जागरुकता अभियान, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और इस खतरे को रोकने के मौजूदा नियम के बावजूद डायन-शिकार के नाम पर हत्याएं बढ़ती जा रही हैं।

झारखंड ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए प्रिवेंशन ऑफ विच (डायन) प्रैक्टिस एक्ट, 2001 को अपनाया है।


अनुशंसित लेख