15 फरवरी, 2021 को, केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट सरकार ने सभी सरकारी ऑफिसेस में सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन और इंसीनेटर स्थापित करने के निर्देश जारी किए। स्वास्थ्य मंत्री के.के शैलजा ने कहा कि सरकारी ऑफिसेस को महिलाओं के अनुकूल बनाने के लिए यह पहल की गई थी।

मंत्री ने कहा, “शुरुआत में सभी प्रमुख कार्यालयों और अन्य सरकारी कार्यालयों में नैपकिन वेंडिंग मशीनें लगाई जाएंगी, जिनमें बहुत सारी वर्किंग महिलाएं शामिल हैं। इस प्रोजेक्ट के लिए फंड्स संबंधित डिपार्टमेंट के जेंडर बजट से एलोकेट की जाएगी, ”रिपोर्टों के अनुसार।

सरकारी ऑफिसेस के लिए सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनें

मंत्री ने यह भी कहा कि यह निर्णय महिलाओं को उनके वर्कप्लेस में आने वाले मुद्दों पर विचार करने पर लिया गया था। लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट गवर्नमेंट ने 2018 में एक नई स्वास्थ्य नीति भी लाई थी, जिसने उच्च प्राथमिक स्तर से एजुकेशन इंस्टीट्यूट्स में सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन और सेनेटरी डिस्पोजल की सुविधा ज़रूरी कर दी थी।

सेंट्रल पॉल्युशन कण्ट्रोल बोर्ड ने सैनिटरी वेस्ट के मैनेजमेंट पर सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स, 2016 के तहत गाइडलाइन्स का एक सेट दिया।

यह कहा गया है कि इंसिनेटर्स गहराई तक वेस्ट दफ़नाने के लिए बेहतर थे, जो केवल कम्पोस्टबल सेनेटरी नैपकिन के लिए रेकमेंडेड है। गाइडलाइन्स के अनुसार, लोकल लेवल पर बनाए गए इंसिनेटर्स का इस्तेमाल सीमित स्थानों पर प्रतिदिन सैनिटरी नैपकिन के साथ किया जाना चाहिए। पैड की एक बड़ी मात्रा के लिए, उच्च तीव्रता के साथ इलेक्ट्रिक इंसीनेटर स्थापित करने की रिक्वेस्ट की जाती है।

इस तरह का कदम केरेला सरकार द्वारा वर्किंग महिलाओं के लिए एक बहुत ही बेहतर कदम है। सेनेटरी नैपकिंस सभी महिलाओं के लिए कोई लक्ज़री नहीं उनकी ज़रूरत है और इस बात को समझते हुए सरकार द्वारा यह कदम उनके कम्फर्ट के लिए उठाया गया है।

Email us at connect@shethepeople.tv