Transgender Couple: केरल के मंदिर में ट्रांसजेंडर कपल को अनुमति से इनकार, जानिए क्या था कारण

केरल के एक मंदिर में ट्रांसजेंडर कपल को नहीं मिली शादी करने की परमिशन, तुरंत उनको बदलना पड़ा अपना शादी का वेन्यू, आइए जानते हैं पूरी खबर को आज के इस न्यूज़ ब्लॉग में -

Vaishali Garg
25 Nov 2022
Transgender Couple: केरल के मंदिर में ट्रांसजेंडर कपल को अनुमति से इनकार, जानिए क्या था कारण

Transgender Couple

Transgender Couple: ट्रांसजेंडर कम्युनिटी को कई अवसरों पर समाज के हाथों भेदभाव का सामना करना पड़ता है। फिर चाहे वह सामाजिक स्थान हो या फ़िर कार्यस्थल। हाल ही में एक घटना में, एक ट्रांसजेंडर कपल को कथित तौर पर केरल के पलक्कड़ के एक मंदिर में शादी करने की अनुमति देने से मना कर दिया गया। इसने जिले के समुदाय के सदस्यों के बीच एक विवाद पैदा कर दिया है और समुदाय के कई सदस्यों ने मंदिर प्रबंधन की आलोचना की।

केरल के एक ट्रांसजेंडर कपल को नहीं मिली अनुमति

निलन कृष्णा और अद्विका कुछ समय तक डेटिंग करने के बाद थिरु-कचमकुरिसी मंदिर में शादी करने का फैसला किया। उनके शादी के कार्ड में उनके दोस्तों के अनुसार समारोह स्थल के रूप में उनके संबंधित मंदिर को दर्शाया गया था। हालांकि, कपल को शादी के साथ आगे बढ़ने से मना कर दिया गया, जिसके परिणामस्वरूप वेन्यू बदला गया। अनुमति नहीं मिलने के बाद आज निर्धारित समारोह को पास के एक हॉल में ट्रांसफर कर दिया गया। इनकार का कारण कथित तौर पर उनकी लिंग पहचान थी, आपको बता दें दोनों ट्रांसजेंडर समुदाय से संबंधित थे।

मंदिर के अधिकारी इनमें से किसी भी आरोप से असहमत थे। अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने अनुमति से इनकार नहीं किया था, केवल इस मामले पर मंदिर बोर्ड के अधिकारियों से बात करने के लिए जोड़े को कहा गया था। मंदिर के एक अधिकारी ने एक रिपोर्ट में कहा, "यह बस नहीं बल्कि उनसे जुड़ा कोई और व्यक्ति यहां आया और हमें मंदिर में शादी करने की योजना के बारे में बताया। तब हमें समझ नहीं आया कि ये कपल ट्रांसजेंडर कम्युनिटी से ताल्लुक रखते हैं। यहां बोर्ड अध्यक्ष व अन्य मौजूद थे  इसलिए हमने उन्हें उच्च अधिकारियों से बात करने के लिए कहा क्योंकि हमें ऐसे मामले में स्वतंत्र निर्णय लेने का कोई अधिकार नहीं है। लेकिन, वे नहीं आए, ” एसा अधिकारी ने कहा।

वहां के अधिकारी ने यह भी बताया कि इससे पहले ट्रांसजेंडर विवाह पहले कभी नहीं हुए थे, माता-पिता की अनुमति के बिना होने वाले प्रेम विवाह भी मंदिर में संपन्न नहीं होते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस तरह की शादी मंदिर परिसर में पुलिस मामलों और कानूनी मुद्दों को आमंत्रित कर सकती है।


अनुशंसित लेख