Fat Shaming: एयरलाइन ने फैट शेम किया,महिला ने दर्ज कराई कंप्लेंट

Fat Shaming: किसी भी व्यक्ति की बॉडी पर उसके रंग रूप पर किसी भी तरह का कमेंट नहीं करना चाहिए। हाल ही में एक फेट शेमिंग(fat shaming) से जुड़ा नया मामला सामने आया है। जिसमें एक एयरलाइन के स्टाफ के द्वारा एक महिला को बॉडी शेम किया गया न्यूज़ इश्यूज ब्लॉग जाने

Shruti Upadhyay
27 Dec 2022
Fat Shaming: एयरलाइन ने फैट शेम किया,महिला ने दर्ज कराई कंप्लेंट

Fat shaming

Fat Shaming: किसी भी व्यक्ति की बॉडी पर उसके रंग रूप पर किसी भी तरह का कमेंट नहीं करना चाहिए। हाल ही में एक फेट शेमिंग(fat shaming) से जुड़ा नया मामला सामने आया है। जिसमें एक एयरलाइन के स्टाफ के द्वारा एक महिला को बॉडी शेम किया गया। साथ ही साथ उसे फ्लाइट में बोड नहीं करने दिया गया। जिस वजह से महिला ने कंप्लेंट दर्ज कराई और एयरलाइन(airline) को महिला की थेरेपी के लिए पैसे देने पड़े।

जाने मामले से जुड़ी बड़ी बातें

ब्राजील (Brazil)की एक  महिला को अधिक वजन के कारण एयरलाइन के द्वारा शर्मिंदा किया गया है। जुलियाना नेहमे (Juliana nehme)जो ब्राज़ील की महिला हैं। वे बेरूत से उड़ान भर रही थीं। दरअसल वे अपने परिवार के साथ दोहा जा रहीं थीं। उन्हें एयरलाइन के कारण लेबनान में ही रुकना पड़ा। उन्हें उनके वजन के कारण उड़ान भरने की अनुमति नहीं दी गई थी।

महिला ने दर्ज कराई कंप्लेंट

महिला ने एयरलाइन के खिलाफ एक कानूनी शिकायत दर्ज करा दी, जिसके बाद अदालत ने एयरलाइन को गलत मानते हुए उन सभी थेरेपी सेसन के लिए भुगतान करने का आदेश कर दिया, जो महिला को इस घटना के बाद लेने पड़े।

जुलियाना नेहमे ब्राज़ीलियाई प्लस-साइज़ मॉडल(plus size model) हैं। उन्होंने एक लोकप्रिय एयरलाइन के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ी है और उसे जीत भी लिया है। उनके वजन के कारण उन्हें एयरलाइन के सदस्य ने बोर्डिंग करने से मना कर दिया था।

एयरलाइन के द्वारा नेहमे को एक्जीक्यूटिव क्लास का टिकट लेने के लिए कहा था, उन्होंने यह बात नहीं मनी थी। उनके साथ उनकी बहन और भतीजा भी साथ थे। वे दोनों ब्राजील वापस चले गए थे, लेकिन उनकी माँ और वे एयरपोर्ट पर फंसी रह गई। एयरलाइन ने उन्हें तब तक बोर्ड नहीं करने दिया जब तक उन्होंने अपना टिकट अपग्रेड नहीं करा लिया।

जाने क्या किया एयरलाइन ने

रिपोर्टों के अनुसार, एयरलाइन ने सीट के लिए पे की गई 830 यूरो की राशि को वापस करने की पेशकश रखी थी, लेकिन एयरलाइन ने उनसे फर्स्ट क्लास की टिकट के लिए  2,480 यूरो का भुगतान करने के लिए कहा था।

नेहमे का वीडियो वायरल हो गया। इसके वायराल होते ही मीडिया यूजर्स उनके समर्थन में आ गए और एयरलाइन के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करने लगे।

अदालत में नेहमे ने  शिकायत दर्ज कराई थी कि एयरलाइन के कर्मचारियों के इस व्यवहार ने उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया था। उनका कहना था कि कर्मचारियों ने स्पष्ट रूप से उन्हें नकारात्मक तरीके में 'मोटा' कहा और ऐसा कह कर उन्हें एक राक्षस की तरह देखा गया था।

एयरलाइन अब मॉडल के  मानसिक चिकित्सा के लिए भुगतान करेगी। जिससे वह उस सिचुएशन का सामना कर सके जो उन्होंने एयरलाइन कि वजह से फेस की थी। साओ पाउलो में अदालत की सुनवाई मे अदालत ने कंपनी को कुल 3,000 यूरो जमा करने का निर्देश दिया है, जो प्रति सत्र 63 यूरो के बराबर बैठता है।

Read The Next Article