गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी एक बहुत ही मजबूत औरत के बारे में। ये फिल्म संजय लीला भंसाली के द्वारा निर्देशित है। ये फिल्म एक माफिया क्वीन गंगूबाई के ऊपर आधारित है। गंगूबाई काठियावाड़ी   मुंबई में एक वैश्यालय की मालिक थी इन ने सेक्स वर्कर्स के राइट्स के बारे मे आवाज उठाई थी वो भी 60 ‘s के ज़माने में। यह है माफिया क्वीन गंगूबाई काठियावाड़ी के बारे में 10 बाते –

कौन थी गंगूबाई काठियावाड़ी ?

1. गंगूबाई काठियावाड़ी एक भारतीय क्रिमिनल, गुंडा, बिज़नेस वीमेन और सेक्स वर्कर थी। ये मुंबई के हीरा मंडी रेड लाइट डिस्ट्रिक्ट में सेक्स रैकेट चलाती थी और इनका खुद का एक वैश्यालय भी कमाठीपुरा मुंबई में था।

2. इनका असली नाम गंगा हरजीवन दस काठियावाड़ी था और इनका जनम 1939 में काठियावाड़ में हुआ था। ये एक अच्छे पढ़े लिखे लॉयर परिवार से थी।

3. गंगू इनके परिवार की एक अकेली संतान थी। इनका परिवार हमेशा इनको पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करता था। गंगू ने इनकी पढाई गुजरात के एक सरकारी स्कूल से पूरी की थी।

4. गंगू ने पढाई छोड़ दी थी क्योंकि उन्हें बॉलीवुड की तरफ रुचि थी। 16 साल की उम्र में गंगू को उनके पिता के अकाउंटेंट से प्यार हो गया और वो उसके साथ मुंबई भाग गई थी।

कैसे बदली गंगूबाई की लाइफ?

5. उनकी ज़िन्दगी पूरी तरीके से बदल गई जब उनके हस्बैंड ने उनको 500 रूपए के लिए वैश्यालय में बेच दिया था।

6. गंगू ने उस परिस्तिथि से खुदको उभारा और उसी वैश्यालय मे सबसे ज्यादा डिमांडिंग प्रॉस्टिट्यूट बनी उनके पास बड़े बड़े सेठ आया करते थे।

7.एक बार उनका भयानक रेप भी हुआ जो की करीम लाला के मेंबर ने किया था न्याय के लिए वो खुद लाला के पास गई और लाला ने उन्हें अपनी बहन भी बनाया।

8. उसके बाद गंगू पुरे अंडरवर्ल्ड में , पुलिस से और पावरफुल लोगों से कनेक्शंस बनाती चली गई।

9. गंगू सोने के बटन वाली साड़ी और ब्लाउज पहन ती थी और एक अकेली ऐसी औरत थी जो ब्लैक बेंटले गाड़ी चलाती थी।

10. गंगू सेक्स वर्कर के प्रति भावनात्मक थी और कभी भी किसी के साथ जबरजस्ती नहीं करती थी।

Email us at connect@shethepeople.tv