महाराष्ट्र MP फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामला:  महाराष्ट्र से इंडिपेंडेंट MP नवनीत कौर राणा (Navneet Kaur Rana) पर आज बॉम्बे हाईकोर्ट ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र जमा करने के लिए 2 लाख का जुर्माना लगाया।महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े शहर अमरावती से पहली बार सांसद बनीं, अब अपनी सीट खो सकती हैं। हालांकि कोर्ट इस पर खामोश है।

35 वर्षीया नवनीत कौर सात भाषाएं बोलती हैं और महाराष्ट्र की आठ महिला सांसदों में शामिल हैं।अभिनेत्री से नेता बनी इस उम्मीदवार की टक्कर पूर्व सांसद और शिवसेना नेता आनंदराव अडसुल से थी।

इससे पहले भी इन कारणों से सुर्खियों में रह चुकी है नवनीत कौर राणा :

मार्च में, नवनीत कौर ने आरोप लगाया था कि शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने उन्हें लोकसभा या निचले सदन की लॉबी में धमकी दी थी। उन्हें महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ सदन में बात करने के लिए जेल जाने की चेतावनी दी थी। विधायक नवनीत कौर ने स्पीकर ओम बिरला से फोन कॉल और शिवसेना के लेटरहेड पर एसिड-हमले की धमकी मिलने की भी शिकायत की थी।

लोकसभा में, नवनीत कौर ने निलंबित महाराष्ट्र सिपाही सचिन वाज़े का मामला उठाया था, जिसे अब मुकेश अंबानी बम धमकी मामले में उनकी मौजूदगी होने के लिए गिरफ्तार किया गया था और ठाणे के बिज़नेसमैन मनसुख हिरन की संबंधित मौत के लिए जांच की जा रही थी।

उन्होंने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह के भ्रष्टाचार के आरोपों के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पद छोड़ने की भी मांग की थी।

महाराष्ट्र MP फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामला: नवनीत कौर राणा कौन हैं ?

नवनीत कौर राणा एक तेलुगु फिल्म अभिनेत्री हैं जिनका जन्म 3 जनवरी 1986 को मुंबई में हुआ था। वह 2019 के लोकसभा चुनाव में एक स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में अमरावती (लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र), महाराष्ट्र से संसद सदस्य के रूप में चुनी गईं। नवनीत को मराठी, पंजाबी, हिंदी, अंग्रेजी और तेलुगु भाषा का ज्ञान हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv