निया देवोलीना ट्विटर विवाद – टीवी सीरियल की बहुओं निया शर्मा और देवोलीना भट्टाचार्य के बीच हुई बहस के लिए दोनों ने एक दूसरे से माफी मांग ली है। दोनों ने सोशल मीडिया के जरिए एक दूसरे से माफी मांगी है। निया ने पहले माफी मांगी और स्वीकार किया कि उन्होंने अपनी हद पार कर दी थी। दूसरी तरफ देवोलीना ने भी लिखा कि उनको निया को दुख पहुंचाने का कोई इरादा नहीं था। हाल ही में पर्ल वी पुरी पर चल रहे मामले के कारण ट्विटर पर बहस हुई थी।

निया और देवोलीना ने पब्लिकली मांगी माफी

निया शर्मा ने अपने इंस्टाग्राम के जरिए देवोलीना के लिए एक माफीनामा नोट शेयर किया। उन्होंने उसमें लिखा है कि “मेरी मां,भाई और रवि ने मुझे प्यार से समझाया कि मैं गलत हूं। यह तीनों गलत नहीं हो सकते हैं.. हे देवोलीना मैंने पर्सनल होकर अपनी लाइन क्रॉस कर दी थी.. मुझे माफ कर दो। मैंने यह सब इंपल्सिव हो के कर दिया था। उम्मीद है कि तुम भूल जाओगी।

देवोलीना ने निया के माफीनामा को स्वीकार करते हुए कहा कि हे निया शर्मा कोई बात नहीं। मुझे माफ कर दो अगर मैंने तुम्हें दुख पहुंचाया हो तो हालांकि मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था। मेरी तरफ से अपने मां, भाई और रवि को सम्मान देना। सुरक्षित रहो और अपना ख्याल रखो।

पर्ल वी पूरी को लेकर हुई थी बहस

निया शर्मा और देवोलीना के बीच हुई ट्विटर वार पर्ल वी पुरी के केस के कारण हुई थी। दरअसल पर्ल वी पुरी नाबालिक लड़की के बलात्कार के आरोप में हिरासत में है। जिसको लेकर निया शर्मा पर्ल वी पुरी के समर्थन में ट्वीट किया था। देबो ने इसी का इनडायरेक्टली जवाब देते हुए पीड़िता को कोसने के बात पर ट्वीट के जरिए विरोध किया था। जिसके बाद इन दोनों के बीच बहस बढ़ती चली गई थी।

निया ने सपोर्ट में कहा था ये

नियर मे पर्ल वी पुरी की सपोर्ट में कहा था कि प्रिय लड़की और महिलाएं किसी पर भी रेप और मॉलेस्टेशन का गलत आरोप ना लगाएं। मेरा सपोर्ट पर्ल वी पुरी के साथ है।

जिस पर देवोलीना ने प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि हर एक चीज का मजाक बना कर रखा है सपोर्ट करना है तो पुलिस कोर्ट के पास जाओ और लड़ो। लेकिन यहां कम से कम छोटी बच्ची के बारे में गलत बातें मत बोलों। कैंडल मार्च करो और पर्ल वी पुरी को रिहा करवाओ।

Email us at connect@shethepeople.tv