साइक्लोन “यास” – केंद्रपाड़ा डिस्ट्रिक्ट के तलचुआ क्षेत्र में साइक्लोन “यास” उभरने से पहले ओडिशा पुलिस एक बुजुर्ग महिला को साइक्लोन शेल्टर होम में लेकर गयी । यह 91 साल की महिला नीचे के इलाके में रहती थी और अपना घर छोड़ नहीं पा रही थी जो कि अमरबाटी गाँव में है।

पुलिस कई समय से इस साइक्लोन कि तैयारी में लगी है और सभी रिस्क वाली जगह से लोगों को दूर कर रही है। तालचुआ मरीन पुलिस स्टेशन के श्रीकांत कुमार बारिक ने बुढ़िया के बारे में सूचना मिलने के बाद उसे बचाने का फैसला किया. उसने अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ उसे उठा लिया और एक साइक्लोन शेल्टर होम में ले गया।

क्या पुलिस हमेशा आम नागरिक की मदद करते हैं ?

उनके निस्वार्थ कार्य के लिए उनकी प्रशंसा की गई है। हाल के दिनों में, नागरिकों की मदद करने वाले पुलिसकर्मियों की कई कहानियां सामने आई हैं। दिल्ली पुलिस का एक सिपाही एक 82 वर्षीय महिला को पास के एक COVID-19 टीकाकरण केंद्र में ले गया। कुलदीप सिंह नाम के कांस्टेबल ने पंजीकरण प्रक्रिया में उसकी मदद की। महिला को ले जाते हुए उसकी एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

साइक्लोन यास से जुडी जरुरी बातें –

1. साइक्लोन यास से अगले 72-120 घंटों में बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव का क्षेत्र बनने की भी काफी संभावना है।

2. केंद्र ने आंध्र प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के तटीय क्षेत्रों में भी चेतावनी जारी की है।

3. केंद्र ने कहा समुद्र तट क्षेत्रों को स्वास्थ्य सुविधाओं और आवश्यक दवाओं और आपूर्ति के साथ तैयार रहना चाहिए

4. साइक्लोन यास धीरे धीरे पास आता जा रहा है और ये 26 मई को ओडिसा और वेस्ट बंगाल को पार करेगा।

5. ओडिशा सरकार सभी आवश्यक सावधानी बरत रही है और भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक बल से आगामी स्थिति के लिए तैयार रहने का आग्रह किया है।

6. रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां अंडमान और निकोबार आइलैंड और ईस्ट कोस्ट के जिलों में भारी बारिश हो सकती है, जिससे अंदर वाली बाढ़ आ सकती है।

7. पिछले हफ्ते ही साइक्लोन तौकते ने गुजरात तट से टकराया और पूरे पश्चिमी तट पर विनाशकारी प्रभाव छोड़ा।

Email us at connect@shethepeople.tv