मीराबाई चानू को अप्वॉइंट किया गया मणिपुर पुलिस का एडीशनल सुपरिटेंडेंट

Swati Bundela
26 Jul 2021
मीराबाई चानू को अप्वॉइंट किया गया मणिपुर पुलिस का एडीशनल सुपरिटेंडेंट

मीराबाई चानू को मणिपुर पुलिस का एडीशनल सुपरिटेंडेंट नियुक्त किया जाएगा। इस बात की घोषणा मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने की। उन्होंने कहा कि ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट मीराबाई चानू को राज्य पुलिस विभाग में एडीशनल सुपरिटेंडेंट के रूप में नियुक्त किया जाएगा।

मीराबाई चानू को अप्वॉइंट


मीराबाई चानू ने इंडियन कंगीनेंट के लिए पहले दिन ही ओलंपिक सिल्वर मेडल हासिल की थी। इस बात के लिए उन्हें कई लोगों से ढेर सारी बधाइयां भी मिली थी। वही अब मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह ने उन्हें मणिपुर में एडीशनल सुपरिटेंडेंट के पद के लिए ऑफर किया है।

उन्होंने अपनी जीत पर कहा यह


ओलंपिक में अपनी जीत से सभी के लिए प्रेरणा बन चुकी है। वही अपनी जीत के बाद, मीराबाई और उनके कोच विजय शर्मा ने एक इंटरव्यू दिया और जीत के प्रति अपने इमोशंस को व्यक्त किया। चानू ने कहा, 'इससे ​​महिलाओं को वेटलिफ्टिंग में प्रवेश करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा। मैं सभी से कहना चाहता हूं कि वे लड़कियों को खेलों में प्रवेश के लिए प्रोत्साहित करें।"

साथ में चानू के कोच विजय शर्मा ने कहा कि 'रियो की हार के बाद हम पर काफी दबाव था क्योंकि हम वहां मेडल की उम्मीद कर रहे थे। लेकिन हमने सफर बदल दिया। हमने ट्रेनिंग पैटर्न, तकनीक को बदल दिया और हम 2017 से विश्व चैंपियनशिप का परिणाम देख सकते हैं।

चानू नहीं जीत पाई थी रियो ओलंपिक


चानू ने रियो ओलंपिक में कोई भी मेडल नहीं जीता था। उसी को ध्यान में रखते हुए, चानू और विजय शर्मा ने एथलीट पर रियो ओलंपिक के दबाव को व्यक्त किया। साथ में यह भी की जिसके बाद उन्होंने अपनी ट्रेनिंग पैटर्न और तकनीक को बदल गया था।

इससे पहले मीराबाई चानू ने क्लीन एंड जर्क कैटेगरी में 200 किलोग्राम से ज्यादा वजन उठाने का नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। इस लिफ्ट के दौरान मीराबाई बिना लिफ्ट के पहले दो प्रयासों में चूक गई थी। हालांकि बाद में अपने तीसरे प्रयास में चानू ने 86 किग्रा भार उठाया और एशियाई चैम्पियनशिप में क्लीन एंड जर्क में 119 किलोग्राम लिफ्ट के साथ जीत हासिल की। इस वजह से बाद में उन्होंने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया। चानू ने कुल मिलाकर 205 किग्रा भार उठाया था।

अनुशंसित लेख