रविवार को आंध्र प्रदेश पुलिस द्वारा ट्विटर पर शेयर की गई एक दिल को छू जाने वाली पोस्ट सोशल मीडिया पर छा गई। शेयर की गई पोस्ट में एक गर्वित पिता सर्किल इंस्पेक्टर श्याम सुंदर की तस्वीर दिखाई गई जो अपनी बेटी, येल्लुरुजेसी प्रसांति को सलाम कर रहे थे । वह अभी गुंटूर जिले के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) के रूप में तैनात हैं। पिता और बेटी की यह जोड़ी विभिन्न स्थानों पर पोस्ट की गई है। दोनों तिरुपति में एक-दूसरे से टकराए। वे 4 जनवरी से 7 जनवरी तक आयोजित होने वाले आंध्र प्रदेश राज्य पुलिस ड्यूटी मीट  ‘इग्नाइट’ में उपस्थित थे।

image

रिपोर्टों के अनुसार, यह पहली बार था जब वे ड्यूटी पर मिले थे। द न्यूज मिनट के साथ एक इंटरव्यू में, प्रसन्थी ने कहा कि जब उनके पिता उन्हें सलामी देते हुए नजर आये तो वह बहुत सहज नहीं थीं। हालांकि, जब अंत में यह हुआ, तो उन्होंने उन्हें वापस सलामी दी।

 

प्रसन्थी, जो 2018 बैच से है, अपने पिता को अपनी प्रेरणा मानती है। यह देखने के बाद कि वह लगातार लोगों की सेवा कर रहा है, उन्होंने डिपार्टमेंट में जाने का फैसला किया। यह ज़रूर ही एक बहुत भावुक और गर्व का पल है . एक पिता की आँखों में यह आसानी से देखने को मिल सकता है . यह पल बहुत ही गर्व का है उस पिता के लिए जो अपनी बेटी को खाकी वर्दी में देखकर उसे फक्र से सलाम कर रहा है . इस पिता और बेटी की जोड़ी ने एक मिसाल कायम की है अपने देश के लिए निस्वार्थ भावना से सेवा करने की और इन्होने यह भी साबित किया की एक बेटी कभी भी अपने पिता के लिए बोझ नहीं बन सकती .

2018 में भी ऐसी ही स्थिति देखी गई थी। फॉर्मर डिप्टी कमिश्नर एआर उमा महेश्वरा सरमा ने अपनी बेटी सिंधु सरमा को सलामी दी थी, जो तेलंगाना के जगतियाल जिले में पुलिस अधीक्षक के रूप में तैनात थीं। इस दिल को छू लेने वाले पल की फोटो भी वायरल हुई थी।

और पढ़ें: मिलिए गणतंत्र दिवस परेड की शान मेजर शीना नय्यर से

Email us at connect@shethepeople.tv