वर्ष 2019 का यूपीएससी (UPSC Result 2020) रिजल्ट घोषित कर दिया गया है। महिला कैंडिडेट्स में प्रतिभा वर्मा (Pratibha Verma) अव्वल रही हैं। प्रतिभा ने परीक्षा में तीसरा All India Rank हासिल किया है, जबकि ओवरआल टॉपर हरियाणा के प्रदीप सिंह। जतिन किशोर दुसरे नंबर पर है। टॉप दस रैंकर्स में तीन महिलाएं हैं। विशाखा यादव टॉपर की लिस्ट में छटे स्थान पर हैं और संजीता मोहापत्रा दसवे स्थान पर

image

यूपीएससी UPSC ने मंगलवार, 4 अगस्त, 2020 को रिजल्ट घोषित किया। लिखित परीक्षा सितंबर 2019 को आयोजित की गई थी, जबकि इंटरव्यू फरवरी 2020 से अगस्त 2020 के बीच आयोजित किया गया था। इन परीक्षाओं के आधार पर, कुल 829 उम्मीदवार परीक्षा दे चुके हैं। IAS, IFS, IPS और केंद्रीय सेवाओं, ग्रुप ए और ग्रुप बी में नियुक्ति के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया। इन नियुक्त उम्मीदवारों में से 150 महिलाएं हैं।

पिछले कुछ सालों की महिला टॉपर

  • वर्ष 2018-19 में, मध्य प्रदेश की सृष्टि जयंत देशमुख महिला कैंडिडेट्स में अव्वल रहीं। उसने अपने पहले प्रयास में पाँचवीं आल इंडियन रैंक हासिल की।
  • वर्ष 2018 में, यूपीएससी (UPSC) परीक्षा की महिला उम्मीदवारों में हरियाणा की एक यंग मां अनु कुमारी अव्वल रहीं। उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में दूसरी आल इंडिया रैंक हासिल की। उस समय वह चार साल के बच्चे की माँ थी। अपनी परीक्षा पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित करने के लिए उन्होंने अपने बच्चे से खुद को अलग कर लिया और एक गाँव में अपनी चाची के साथ रहने लगी।
  • सत्र 2014-2015 में इरा सिंघल UPSC परीक्षा की टॉपर बनीं। वह जनरल केटेगरी में सबसे ज़्यादा अंक लाने वाली पहली विकलांग महिला बनी
  • वर्ष 2015-16 में टीना डाबी ओवरआल टॉपर के रूप में उभरीं। वह यूपीएससी परीक्षा में टॉप करने वाली पहली दलित लड़की थी।
  • अंत में, वर्ष 2016-17 में, कर्नाटक की नंदिनी केआर ने यूपीएससी परीक्षा 2017 में प्रथम आल इंडिया रैंक हासिल की। ​​कर्नाटक के एक छोटे से शहर से आईं, वह IAS अधिकारी बनने वाली अपने परिवार की पहली महिला थीं।

पढ़िए : मिलिए प्रांजल पाटिल से, जो भारत की पहली नेत्रहीन महिला आईऐएस अधिकारी हैं

Email us at connect@shethepeople.tv