जानिए किस प्रकार उडुपी में यह रेस्टोरेंट केवल महिलाओं द्वारा चलाया जाता है

Published by
STP Hindi Editor

यदि आप एक रोड ट्रिप पर उडुपी जा रहे हैं तो एक ऐसी खाने की जगह ढूंढना जहां आप एक अच्छा भोजन प्राप्त कर सकते हैं कठिन है। इन महिलाओं से मिलिए जिन्होंने वहां पर क्लासिक विलेज रेस्टोरेंट खोला हुआ है. वह आपको ऐसा भोजन खिलाएंगे मानो आप अपने माँ के हाथ का भोजन खा रहे हो. जानिए किस प्रकार उडुपी में यह रेस्टोरेंट केवल महिलाओं द्वारा चलाया जाता है

55 वर्षो के लिए होटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में रह चुके , जीए कोतेयार 12 महिलाओं की टीम की निगरानी करते हैं. वह महाति सेवा समिति के अध्यक्ष हैं।

इस रेस्टोरेंट ने महिला सशक्तिकरण का एक उदाहरण निर्धारित किया है। विचार यह था कि सभी के लिए स्वस्थ भोजन उपलब्ध कराना और उन महिलाओं को रोजगार देना जिनको उनकी जरूरत है।

पढ़िए:मैं ट्विग्स इंडिया को एक सस्ता गहनों का ब्रैंड बनाना चाहती हूँ – अर्पिता शर्मा

जब शीदपीपल.टीवी ने मुख्य रसोइया गीता से बात की तो उन्होंने कहा कि “मेरा एकमात्र उद्देश्य महिलाओं को यहां काम देना था।”

स्वास्थ्य और स्वच्छता के बारे में बोलते हुए, उन्होंने कहा, “यहाँ हम खाद्य पदार्थों के मानकों के साथ समझौता नहीं करते हैं। जैसे हम घर पर खाना बनाते हैं, हम इसी तरह यहां भी खाना खाते हैं। हम अतिरिक्त स्वाद के लिए अस्वास्थ्यकर मसालों का मिश्रण नहीं करते हैं। यह सब स्वच्छ है और प्यार के साथ तैयार किया गया है। ”

जब पूछा गया कि वे एक-दूसरे को कैसे मिल गए, गीता ने समझाया, “कोतेयर सर ने मुझे मेरे हाथ का एक गर्म भोजन बनाने के बाद मौका दिया। उन्होंने मुझे और दूसरों की नौकरी की पेशकश की और तब से हमने कभी वापस नहीं देखा। ”

उनको अभी तक एक अच्छी प्रतिक्रिया मिली है. “अब तक, 15,000 ग्राहकों यहाँ आये हैं और उनकी प्रतिक्रिया अच्छी रही है,” कोतेयर ने कहा।

पढ़िए :जानिए किस प्रकार प्रतीक्षा ने भारत के पहले ऑनलाइन वाक् चिकित्सा प्लेटफार्म की स्थापना की

गीता ने कहा,

“यह रेस्टोरेंट हम सभी का घर है. हम इसे एक करियर के रूप में कभी नहीं सोचते हैं बल्कि जैसे कि हम अपने घरों की देखभाल करते हैं, हम उसी जगह इस जगह को पसंद करते हैं। जैसा कि आप घर पर एक मेजबान के रूप में एक मेहमान को नमस्कार करते हैं, यह यहां समान भी है।”

“मेरी राय में, एक महिला को पुरुषों पर कभी निर्भर नहीं होना चाहिए। उसे अपना रास्ता ढूंढना चाहिए, अपना करियर चुनना और एक जीवन जीना चाहिए, जिसे वह चाहती है हर महिला को आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना चाहिए, “, गीता ने कहा.

चुनौतियाँ

चुनौतियों के बारे में बात करते हुए गीता ने दावा किया, ” नकारात्मक लोग हमारे रास्ते में आएंगे और हमें स्वतंत्र होने से रोकने की कोशिश करेंगे, लेकिन हमारे पास हमारे परिवार की मदद है और जुनून वास्तव में हमें बड़ा हासिल करने की ओर ले जाता है।”

उन्होंने अंत में कहा,” सिर्फ एक कठिनाई है और वह यह है कि हम घर और काम में संतुलन कैसे बनाएं. पर हम सभी मुश्किलों का सामना करते रहते हैं.”

पढ़िए :शांति सिवाराम से मिलिए जिन्होंने नीरजा और तुम्हारी सुलु जैसी फिल्में दी

Recent Posts

Tu Yaheen Hai Song: शहनाज़ गिल कल गाने के ज़रिए देंगी सिद्धार्थ को श्रद्धांजलि

इसको शेयर करने के लिए शहनाज़ ने सिद्धार्थ के जाने के बाद पहली बार इंस्टाग्राम…

36 mins ago

Remedies For Joint Pain: जोड़ों के दर्द के लिए 5 घरेलू उपाय क्या है?

Remedies for Joint Pain: यदि आप जोड़ों के दर्द के लिए एस्पिरिन जैसे दर्द-निवारक लेने…

2 hours ago

Exercise In Periods: क्या पीरियड्स में एक्सरसाइज करना अच्छा होता है? जानिए ये 5 बेस्ट एक्सरसाइज

आपके पीरियड्स आना दर्दनाक हो सकता हैं, खासकर अगर आपको मेंस्ट्रुएशन के दौरान दर्दनाक क्रैम्प्स…

2 hours ago

Importance Of Women’s Rights: महिलाओं का अपने अधिकार के लिए लड़ना क्यों जरूरी है?

ह्यूमन राइट्स मिनिमम् सुरक्षा हैं जिसका आनंद प्रत्येक मनुष्य को लेना चाहिए। लेकिन ऐतिहासिक रूप…

2 hours ago

Aryan Khan Gets Bail: आर्यन खान को ड्रग ऑन क्रूज केस में मिली ज़मानत

शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान लगातार 3 अक्टूबर से NCB की कस्टडी में थे…

3 hours ago

This website uses cookies.