Roads Like Hema Malini Cheeks: क्या महिलाओं के गालों से सड़क की तुलना करना सही है? क्यों पॉलिटिशियन ऐसी भद्दी सोच रखते हैं

Roads Like Hema Malini Cheeks: क्या महिलाओं के गालों से सड़क की तुलना करना सही है? क्यों पॉलिटिशियन ऐसी भद्दी सोच रखते हैं Roads Like Hema Malini Cheeks: क्या महिलाओं के गालों से सड़क की तुलना करना सही है? क्यों पॉलिटिशियन ऐसी भद्दी सोच रखते हैं

SheThePeople Team

21 Dec 2021


Roads Like Hema Malini Cheeks: शिवसेना के मिनिस्टर गुलाबराओ पाटिल बताना चाहते थे कि उनकी कोंस्टीटूएंसी की सड़क कितनी अच्छी है। इसके लिए उन्होंने जो शब्द चुने उसने इन्हें मुसीबत में ड़ाल दिया है। जलगाओं में बौद्धवाद नगर पंचायत की मीटिंग के वक़्त गुलाबराओ पाटिल ने यह विवादित बात कही।

मिनिस्टर गुलाबराओ पाटिल ने हेमा मालिनी के लिए क्या कहा?

"इन्होंने कहा कि जो 30 साल से MLA हैं वो मेरी कोंस्टीटूएंसी में आएं और देखें कि यहाँ की सड़क कैसी है। अगर यह सड़के हेमा मालिनी के गालों  जैसी न हुई तो मैं इस्तीफ़ा दे दूंगी।" जैसे ही इन्होंने यह बात कही सभी जगह लोग आग बबूला हो गए थे । इस बात को लेकर मिनिस्टर गुलबराओ माफ़ी मांग चुके हैं लेकिन क्या यह काफी है। महाराष्ट्र स्टेट कमीशन फॉर वीमेन ने यह बयान लिख लिया था और कहा था कि अगर यह माफ़ी नहीं मांगेगे तो इनेक खिलाफ लीगल एक्शन लिया जायेगा।

हेमा मालिनी फेमस बॉलीवुड एक्ट्रेस हैं और 73 साल की हैं। यह पार्लियामेंट की सिटींग मेंबर हैं और अगर इनके लिए कोई रेस्पेक्ट नहीं है तो आप आम महिलाओं के लिए क्या एक्सपेक्ट करते हैं। इससे पहले भी ऐसा कई बार हुआ है कि किसी एक्ट्रेस को किसी राजनेता ने इस तरह कहा है। इससे पहले कैटरीना के लिए ऐसा कहा गया था। एक वीडियो वायरल हुआ था जिस में गांव के लोग शिकायत कर रहे हैं कि सड़कों की दुर्दशा बहुत ख़राब है। तब यह कहते हैं कि मेरी कोंस्टीटूएंसी में सड़कें एकदम एक्ट्रेस कैटरीना कैफ के गालों जैसी बनना चाहिए। इस तरीके के जब शब्द महिलाओं के लिए कहे जाते हैं तो उनसे साफ़ समझ आता है कि हमारे समाज में कितना लिंगभेद है ।

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के लीडर तथागता रॉय ने भी ट्विटर पर कुछ कमेंट किया था जिसके कारण से इनके खिलाफ FIR दर्ज हो गयी थी। इन्होंने कहा था कि “किसी भी पार्टी में चाहे वो बीजेपी हो दो तरीके के लोग होते हैं। एक जो कुछ लडने आते हैं जैसे दिमाग और मेहनत और एक जो कुछ लेने आते हैं जैसे पावर, पैसा और महिला।”

इतने विवादित बयान देने के बाद यह राजनेता माफ़ी मांगलेते हैं और बस बच जाते हैं लेकिन लोगों की मानसिकता पर इसका बुरा असर पड़ता है। लोग अपने लीडर को देखकर ही सीखते हैं और आगे वही दोहराते हैं । इसलिए ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ा फैसला लेना जरुरी है ताकि यह कभी भी दोहराया न जाए और महिलाओं के लिए ऐसी ओछी बात न की जाये।


अनुशंसित लेख