कोरोनावायरस और लॉकडाउन के बीच सानिया मिर्ज़ा काफी तनाव का सामना कर रही है क्योंकि वह और उनके पति शोएब मलिक अलग-अलग देशों में रह रहे हैं। लेकिन, सबसे महत्वपूर्ण बात से चिंतित हैं की उनका बेटा इज़हान अपने पिता को Covid-19 के प्रकोप के कारण नहीं देख पा रहा है।

image

“शोएब पाकिस्तान में फंसे हैं और मैं यहाँ फंसी हूं। हमारे पास एक छोटा बच्चा है, जिसे पालना बहुत मुश्किल था। हमें नहीं पता कि कब इज़हान अपने पिता को फिर से देख पाएगा । यह काफी मुश्किल है, ”सानिया ने द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा।

सानिया और उनके बेटे इज़हान हैदराबाद में हैं, जबकि उनके क्रिकेटर पति अपनी 65 वर्षीय माँ की देखभाल करने के लिए पाकिस्तान के सियालकोट में हैं। सानिया, जो अभी अपने माता-पिता के साथ रह रही है, उन्होंने कहा कि उन्हें चिंता नहीं है, लेकिन कोरोनोवायरस के खत्म होने की अनिश्चितता के साथ उन्हें  टेनिस या काम के बारे में सोचने का ज्यादा समय नहीं मिलता । उन्हें जिस बात की सबसे ज़्यादा चिंता है वह अपने बच्चे की देखभाल कैसे करें और उसे कोरोनावायरस से कैसे बचा सकती है।

“शोएब पाकिस्तान में फंसे हैं और मैं यहाँ फंसी हूं। हमारे पास एक छोटा बच्चा है, जिसे पालना बहुत मुश्किल था। हमें नहीं पता कि कब इज़हान अपने पिता को फिर से देख पाएगा । यह काफी मुश्किल है” – सानिया मिर्ज़ा

“मुझे एंग्जायटी की प्रॉब्लम नहीं है, लेकिन कुछ समय पहले, मुझे चिंता हो रही थी। मैं बिस्तर पर लेटी हुई थी और चीजों के बारे में सोच रही थी क्योंकि हर जगह बहुत नेगेटिविटी है। घर में एक बच्चा होने के कारण, आप यह नहीं जानते कि अपनी सुरक्षा कैसे करें, अपने बच्चे की सुरक्षा कैसे करें, आपके माता-पिता उम्र के एक अलग पड़ाव पर हैं। इसलिए, आप वास्तव में काम या टेनिस के बारे में नहीं सोच सकते, ”उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा।

कोरोनावायरस से पहले, सानिया अलग -अलग टूर्नामेंट के लिए ट्रेवल कर रही थी। उन्होंने ऐतिहासिक फेड कप जीत के बाद दुबई से 16 घंटे की उड़ान भरी। और, फिर उन्होंने इंडिया तक पहुंचने के लिए तीन घंटे के लिए सड़क मार्ग से यात्रा की, केवल इस खबर को जानने के लिए कि सभी टेनिस टूर्नामेंट कैंसिल कर दिए गए हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv