Singer Lata Mangeshkar Admitted In Hospital: सिंगर लता मंगेशकर को हुआ कोरोना, 10-12 दिन के निगरानी में रखा गया

Singer Lata Mangeshkar Admitted In Hospital: सिंगर लता मंगेशकर को हुआ कोरोना, 10-12 दिन के निगरानी में रखा गया Singer Lata Mangeshkar Admitted In Hospital: सिंगर लता मंगेशकर को हुआ कोरोना, 10-12 दिन के निगरानी में रखा गया

SheThePeople Team

12 Jan 2022


महान सिंगर लता मंगेशकर को कोरोना हो गया है और इनकी हालत काफी नाज़ुक है। यह अभी अस्पताल में भर्ती हैं और इनका इलाज किया जा रहा है। लता मंगेशकर की उम्र 92 साल है और मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में इलाज हो रहा है। सिंगर की भतीजी ने इनकी हेल्थ के बारे में सभी को खबर दी और मीडिया से भी बात की।

Singer Lata Mangeshkar Admitted In Hospital

जब सिंगर मंगेशकर को अस्पताल में भर्ती किया गया था तब इनको काफी हलके सिम्टम्स थे। लेकिन इनको कई और हेल्थ रिलेटेड बीमारियां भी हैं जिसके कारण से यह थोड़ी सीरियस हो गयी थीं। इनको कोरोना के साथ साथ न्युमोनिआ भी हो गया है। इसके चलते इनको अस्पताल में ही 10-12 दिन के लिए भर्ती करके निगरानी में रखा जाएगा।

लता मंगेशकर की हेल्थ को लेकर उनके परिवार ने क्या कहा?

सिंगर लता की भतीजी ने यह भी कहा कि "अब इनकी हेल्थ अच्छी है। इनको ICU में इसलिए रखा गया है क्योंकि उनकी उम्र ज्यादा है और इसलिए निगरानी रखना जरुरी है। आप सभी इनके लिए दुआएं करें और हमारी प्राइवेसी का आदर करें।"

लता मंगेशकर इंडिया की सोने की चिड़िया हैं इन्होंने कई गाने गए हैं कई पीडियों से। इनकी आवाज के सभी दीवाने हैं और इनको इसके लिए कई बड़े बड़े पुरस्कार जैसे कि पद्मा भूषण, पद्मा विभूषण, दादा साहेब फाल्के और कई नेशनल अवार्ड मिल चुके हैं। इनको कम से कम 1,000 से ऊपर गाने गाये हैं हिंदी और कई दूसरी भाषाओँ में। यह सबसे ज्यादा रिकॉर्ड की जाने वाली आर्टिस्ट हैं गिनीस बुक ऑफ़ रिकार्ड्स।

महाराष्ट्र में एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में तेजी से कोरोना फैल रहा है। कई बॉलीवुड सेलिब्रिटीज को भी तेजी से कोरोना हो रहा है जैसे कि जॉन अब्राहम, मृणाल ठाकुर, करीना कपूर, रिया कपूर, अर्जुन कपूर, अंशुला कपूर और प्रेम चोपड़ा। डॉ NK अरोरा का कहना है कि कोरोना के अचानक से बढ़ते मामले पिछले एक हफ्ते में इंडिया में तीसरी लहर का संकेत देते हैं। ऐसा बाहर के कई देशों में भी हो रहा है। साउथ अफ्रीका में भी ऐसा देखा गया कि मामले अचानक से बड़े और उसके बाद धीरे धीरे अपने आप कम होना चालू हो गए। इसलिए इसको लेकर टेंशन लेने की या फिर घबराने की जरुरत नहीं है।


अनुशंसित लेख