न्यूज़

स्मृति ईरानी का कहना है कि लड़कों को भी Menstrual Hygiene पर शिक्षित किया जाए

Published by
Isha Rawat

Menstrual Hygiene Day पर, स्मृति ईरानी ने ‘Menstural Education’ का मैसेज स्प्रेड किया. उन्होंने सिर्फ लड़कियों को ही नहीं बल्कि लड़कों को भी इस शिक्षा का हिस्सा बनाने को कहा। वह चाहती है कि सारे युवा menstruation के बारे में जागरूक हों।

“सस्ती सैनिटरी नैपकिन को सभी जन औषधि केंद्रों के माध्यम से उपलब्ध कराया गया है, जिससे लाखों भारतीय महिलाओं के लिए #MenstrualHygiene सुनिश्चित हो सके। #MHDay2020 पर न केवल लड़कियों को, बल्कि लड़कों को भी शिक्षित करना चाहिए।  शर्म की बात नहीं है। ”, स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी ट्वीट किया कि “menstruation और menstrual hygiene के बारे में जागरूकता पैदा करना आज के समय की आवश्यकता है। आइए safe menstrual hygiene practices को बढ़ावा देकर महिलाओं के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करें। ”

और पढ़ें – आंगनवाड़ी की कार्यकर्ताओं ने जोन्हा गांव में सप्लाई करे सेनेटरी पैड्स

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे 2015-2016 का अनुमान है कि भारत में 336 मिलियन मासिक धर्म वाली महिलाओं में से 36 प्रतिशत महिलाओं की सैनिटरी पैड तक पहुंच है या वे सैनिटरी पैड का उपयोग कर रही हैं। भारत में केवल 48 प्रतिशत किशोरियों को पीरियड्स शुरू होने से पहले पीरियड्स के बारे में नहीं पता होता है।

ब्लीडिंग, और menstruating आम बात है और इस बात को सामान्य करने के लिए हमें menstruation के बारे में दोनों लिंगों को जितना संभव हो उतना शिक्षित करने की आवश्यकता है।

SheThePeople ने हाल ही में झारखंड में युवा महिलाओं के बारे में एक कहानी बताई, जो कपड़े और कुछ मामलों में पत्तियों और घास का इस्तेमाल करने के लिए मजबूर थे। लॉकडाउन ने उन लोगों के लिए मुश्किल समस्या पैदा कर दी है जिनके आस-पास दुकानें नहीं हैं, जो उन्हें पैड्स या‌ टैमपून सप्लाई करते थे ।

जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय की मधुलिका खन्ना ने शिक्षा के स्तर को menstruation से जोड़ने के लिए डीटेल्ड पेपर तैयार किए है। वह कहती है , Menarche एक चुनौतीपूर्ण एक्सपीरियंस हो सकता है.

पीरियड्स शेमिंग के कल्चर को रोकना हमारी आज की जरूरत है। ब्लीडिंग, और menstruating आम बात है और इस बात को सामान्य करने के लिए हमें menstruation के बारे में दोनों लिंगों को जितना संभव हो उतना शिक्षित करने की आवश्यकता है।

और पढ़ें – मेरे पीरियड्स चल रहे हैं तो उन्हें छुपाने की क्या ज़रूरत है?

Recent Posts

Delhi Cantt Rape Case: लाश के नाम पर महज़ जले हुए दो पैर से कैसे पता लगाएगी पुलिस कि बच्ची के साथ रेप हुआ था या नहीं ?

पुलिस के मुताबिक़ मामले की जांच जारी है ,उन्होंने भारतीय दंड संहिता (IPC) की संबंधित…

7 hours ago

Big Boss 15 : पति Karan Mehra संग विवादों के बाद क्या Nisha Rawal बिग बॉस 15 शो में नज़र आएगी ?

अभिनेत्री और डिजाइनर निशा रावल जो पति करण मेहरा के साथ अपने विवाद के बाद…

10 hours ago

क्या आप Dial 100 फिल्म का इंतज़ार कर रहे हैं? इस से पहले देखें ऐसी ही 5 रिवेंज थ्रिलर फिल्में

एक्ट्रेस नीना गुप्ता की जल्दी ही नयी फिल्म आने वाली है। गुप्ता और मनोज बाजपेयी…

10 hours ago

Viral Drunk Girl Video : पुणे में दारु पीकर लड़की रोड पर लेटी और ट्रैफिक जाम किया

इस वीडियो में एक लड़की देखी जा सकती है जिस ने दारु पी रखी है…

10 hours ago

Tokyo Olympic 2021 : क्यों कर रहे हम टोक्यो ओलंपिक्स में महिला एथलिट को सेलिब्रेट?

इस बार के टोक्यो ओलिंपिक 2021 में महिला एथलिट ने साबित कर दिया है कि…

11 hours ago

TOKYO ओलंपिक्स 2020 : अदिति अशोक कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

भारतीय महिला गोल्फर अदिति अशोक पहली बार सबकी नज़र में 5 साल पहल रिओ ओलंपिक्स…

12 hours ago

This website uses cookies.