गर्मी की छुट्टियां पश्चिम बंगाल : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना के बढ़ते केसेस को देखते हुए सभी विद्यालयों में 20 अप्रैल, मंगलवार से 2 जून तक गर्मी की छुट्टियों का ऐलान किया है।

पश्चिम बंगाल में स्कूले बंद

19 अप्रैल को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ममता बनर्जी ने कोरोना वायरस के प्रभाव को कम करने के लिए नई गाइडलाइन जारी करी है। उन्होंने सभी स्कूलों की गर्मी की छुट्टियां जल्दी कर दी है। विद्यालय 2 जून तक बंद रखने का आदेश दिया गया है। इस दौरान सभी शिक्षकों की भी छुट्टी कर दी गई है। ऑनलाइन मोड के द्वारा ज़रूरत पड़ने पर बोर्ड संबंधी सारी तैयारी की जाएगी।

इससे पहले राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में 7 मई से गर्मी की छुट्टियां पड़ने वाली थी। सभी शिक्षक एवं कक्षा 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी मध्य-फरवरी से स्कूल आ रहे थे। अब छुट्टियां कल से ही हो गई हैं। गर्मी की छुट्टियां पश्चिम बंगाल

बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा, “कक्षा 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं के बच्चे मध्य-फरवरी से ही आ रहे थे ( सरकारी स्कूलों के)। COVID -19 के तात्कालिक हालत को देखते हुए हमें गर्मी की छुट्टियां जल्दी करनी पड़ी। शिक्षा विभाग आज सभी जरूरी जानकारी जारी कर देगा”। उन्होंने सभी प्राइवेट स्कूलों से भी इसका अनुसरण करने को कहा है।

इसी कांफ्रेंस के दौरान ममता बनर्जी ने सरकार के ‘नाइट कर्फ्यू’ के प्लान की आलोचना करी और कहा, “नाइट कर्फ्यू कोई हल नहीं है। हमें सचेत रहना होगा, घबराने वाली कोई बात नहीं है”। उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि राज्य सरकार अस्पतालों में 20% बिस्तरों की बढ़ोतरी में कामयाब रही है। वे COVID -19 को देखते हुए अपनी सारी मीटिंग और रैलियों को भी रद्द करने वाली हैं।

पश्चिम बंगाल राज्य में अभी 49,638 एक्टिव केसेस है और 10k मौतें हो चुकी हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते केसेस के कारण CPI(M) ने आने वाले चुनाव के लिए राज्य में सारी रैलियों को रद्द करने का फैसला लिया है। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए सरकार द्वारा सारे उपाय किए जा रहे हैं।
हालांकि, ममता सरकार ने राज्य में अभी कोई नाइट कर्फ्यू या लॉकडाउन का ऐलान नहीं किया है।

Email us at connect@shethepeople.tv