ताहिरा कश्यप की कैंसर से लड़ाई पर उनकी कविता सभी के लिए प्रेरणादायक है। अपनी कविता के माध्यम से, राइटर-फिल्म मेकर ने कई कैंसर पेशेंट्स और सर्वाइवर्स को खुद पर प्राउड फील करने के लिए प्रेरित किया है।

ताहिरा ने एक वीडियो शेयर किया, जिसमें वह अपनी कविता सुनाती हुई देखी जा सकती है।

वह कहती है, “अपने स्कार्स को न छुपाये, उन्हें शो करें, उन्हें फ्लॉन्ट करें , ठीक उसी तरह, जैसे आपकी चमकदार मुस्कान, दूसरों को सुकून देती है।

और जब आप यह करते हैं उस समय और बार-बार इससे आप लोगों को आपकी स्माइल से भागने और छिपने का मौका नहीं देते है,

उन्हें आपके बैज ऑफ़ ऑनर, जो आपका प्राइज है उसे पसंद करना होगा ।

ताहिरा कश्यप की कविता फोकस करती है  ’Embrace Your Scars’ पर

कश्यप जिन्होंने कैंसर के साथ बहादुरी से लड़ाई लड़ी, उन्होंने ’अपने स्कार्स से प्यार करने’ पर जोर दिया। उनकी कविता में यह फैक्ट भी शामिल था कि कैंसर से लड़ाई सिर्फ एक फिजिकल प्रोसेस नहीं है, बल्कि एक मेन्टल प्रोसेस भी है। अपनी कविता के साथ, कश्यप ने लोगों से कैंसर का जल्द से जल्द पता लगाने और उससे लड़ने के लिए रिक्वेस्ट किया था।

कश्यप, जो दो बच्चों की माँ है उन्होंने स्टेज 1 ए ब्रैस्ट कैंसर के खिलाफ़ जीत हासिल की । उन्हें 2018 में इस बीमारी का पता चला था। उन्होंने अपने पति आयुष्मान खुराना की हर तरह से उनका साथ देने के लिए सराहना की है।

ताहिरा कश्यप की किताब

लॉकडाउन में ताहिरा कश्यप ने  एक किताब लिखी जिसका टाइटल था “The 12 Commandments Of Being A Woman”। उनकी बुक में उनकी पर्सनल लाइफ से बहुत सारे स्निपेट्स शामिल हैं, जिसमें उनके पति के साथ उनके रिश्ते और डिप्रेशन और कैंसर के खिलाफ उनके स्ट्रग्ग्लस भी शामिल हैं।

इसके अलावा, कश्यप ने हाल ही में एकता कपूर और गुनीत मोंगा के साथ हाथ मिलाया, जो फीमेल क्रिएटर्स और महिलाओं के नेतृत्व वाले सिनेमा को समर्थन देने का वादा करता है।

सोनाली बेंद्रे ने भी एक कविता सुनाई

बॉलीवुड अदाकारा सोनाली बेंद्रे ने आयुषी श्रीधर द्वारा लिखी  कैंसर पर एक कविता सुनाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। उन्होंने  कैंसर पेशेंट्स और सर्वाइवर्स से भी रिक्वेस्ट  किया कि वे अपने अंदर उम्मीद का दिया जलाएं ‘और आशा के साथ बीमारी से लड़ें। उन्हें भी मेटास्टैटिक कैंसर का पता चला था और अमेरिका में उनका इलाज किया गया था।

Email us at connect@shethepeople.tv