Taliban Bans Women In College: तालिबान के द्वारा अप्पोइंट किए गए चांसलर ने महिलाओं को कॉलेज जाने से बैन किया

Taliban Bans Women In College: तालिबान के द्वारा अप्पोइंट किए गए चांसलर ने महिलाओं को कॉलेज जाने से बैन किया Taliban Bans Women In College: तालिबान के द्वारा अप्पोइंट किए गए चांसलर ने महिलाओं को कॉलेज जाने से बैन किया

SheThePeople Team

28 Sep 2021

काबुल की यूनिवर्सिटी से महिलाओं को बैन कर दिया गया है। इनका कहना है कि जब तक इस्लामिक माहौल नहीं बन जाता है तब तक महिलाओं को पढ़ाई लिखाई नहीं करनी है। मोहम्मद अशरफ ग़ैरत का कहना है कि इस्लाम से ऊपर कुछ नहीं है। इन्होंने यह ट्वीट कर के कहा है।

Taliban Bans Women In College


इससे पहले तालिबान 1990 में पॉवर में आए थे। पहले भी महिलाओं को बाहर अल्लॉव नहीं किया जाता था और अगर वो किसी भी आदमी के साथ हो तब उनको बाहर भी नहीं जाने दिया जाता था। इससे पहले तालिबान ने 20 साल पहले अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़ा किया था और अब एक बार फिर कर लिया है। महिलाओं को मिनिस्ट्री में बैन करने को लेकर कुछ महिलाएं प्रोटेस्ट भी कर रही हैं। इसी तरीके से अगर अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान काम करते रहे तो वहां की महिलाओं का फ्यूचर कितना ख़राब होगा यह बताना मुश्किल है।

तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान पर 15 अगस्त को कब्ज़ा कर लिया था और उसके बाद से यह सब कानून वहां के बदलते जा रहे हैं खास तौर पर महिलाओं से जुड़ीं। महिलाओं के खुले आम घूमने से लेकर वो क्या पहनती हैं, कैसे पड़ते हैं, और कैसे महिलाएं अपने आप रिप्रेजेंट करती हैं तालिबान सबके खिलाड़ खड़े रहते हैं।

स्पोर्ट्स से महिलाओं को बैन किया


इतनी बंदिशों के चलते 32 महिला फुटबॉलर्स तालिबान को चकमा देकर पकिस्तान पहुंच चुकी हैं। यह अपने परिवार वालों के साथ अफ़ग़ानिस्तान छोड़कर आगए हैं क्योंकि वहां महिलाओं के लिए बिलकुल भी सेफ माहौल नहीं है और महिलाओं के स्पोर्ट्स खेलने को लेकर भी तालिबान ने बैन लगा दिया है।

इस से पहले तालिबान ने कहा था महिलाएं मिनिस्टर नहीं बन सकती हैं यह तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान की सभी महिलाओं के लिए अपने आप कह दिया है। ऐसे ही कुछ समय पहले तालिबान ने डिक्लेअर किया था कि महिलाएं अब किसी भी तरीके के स्पोर्ट्स में हिस्सा नहीं ले सकती हैं क्योंकि इससे उनकी बॉडी एक्सपोज़ होती है। इस से पहले इन्होंने कहा था कि महिलाओं को कॉलेज में सिर्फ महिला टीचर्स ही पढ़ा सकती हैं या फिर थोड़े ज्यादा उम्र के पुरुष जिनका करैक्टर अच्छा हो।

अनुशंसित लेख