लाइव चैनल पर तालिबान ने कहा "महिलाओं की शिक्षा और रोज़गार तक पहुंच होगी, लेकिन उन्हें हिजाब पहनना होगा"

लाइव चैनल पर तालिबान ने कहा "महिलाओं की शिक्षा और रोज़गार तक पहुंच होगी, लेकिन उन्हें हिजाब पहनना होगा" लाइव चैनल पर तालिबान ने कहा "महिलाओं की शिक्षा और रोज़गार तक पहुंच होगी, लेकिन उन्हें हिजाब पहनना होगा"

SheThePeople Team

17 Aug 2021


लाइव टीवी पर तालिबान की कॉल : 15 अगस्त को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर पूरी तरह से अपना नियंत्रण स्थापित करने के बाद पहली बार तालिबान की ओर से लाइव टीवी पर कोई बड़ा बयान सामने आया है। पिछले कुछ दिनों से तालिबान की स्थिति जग जाहिर हो चुकी है, इस्लामी समूह तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्ज़े के बाद अब तालिबान ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। तालिबानी प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने बीबीसी पत्रकार यल्दा हाकिम से लाइव चैनल पर बात कर के अपनी आगे की नीतियों और कानूनों के बारे बताया।

लाइव टीवी पर तालिबान की कॉल :

पत्रकार यल्दा हाकिम के पास अचानक आई इस कॉल को उन्होंने बड़ी ही कुशलता से संभाला। उनकी इस बेहतरीन सूझबूझ के लिए उन्हें खूब प्रशंसा भी मिल रही है। उस वक़्त न्यूज़ एंकर हाकिम एक इंटरव्यू के लिए तैयार थी ,तभी अचानक से उन्हें तालिबान से कॉल आती है। उन्होंने बड़ी तेज़ी से गियर स्विच किया और कॉल को लाउडस्पीकर पर कर दिया।

तालिबान के प्रवक्ता ने लाइव न्यूज़ चैनल पर क्या कहा ?

फ़ोन पर बात कर रहे व्यक्ति ने अपनी पहचान बताई ,उन्होंने ऑन एयर शो पे खुदका नाम सुहैल शाहीन बताते हुए कहा कि समूह "शांति" लाएगा और लोगों और इस देश के सेवक के रूप में काम करेगा। इसके बाद उन्होंने आगे कहा कि अफगानिस्तान अब फिर से इस्लामी शरिया कानून के सभी कानूनों को मानेगा और पुरुषों और महिलाओं को तेहज़ीब वाले कपड़े पहनने होंगे और जो इस नियमो को नहीं मानेगा उन पर कड़ी कार्यवाही होगी।

जब न्यूज़ एंकर हकीम ने शाहीन से यह कहते हुए सवाल पूछा कि उन्हें कई अफगानी महिलाओ के मदद के लिए कॉल, टेक्स्ट मैसेज और ईमेल आ रहे है ,तो उस पर प्रवक्ता ने जवाब देते हुए कहा कि तालिबान "महिलाओं पर कोई कार्रवाई नहीं" करेगा, और लड़कियों की पढाई जारी रहेगी। तालिबानी प्रवक्ता ने साफ़ साफ़ कहा कि महिलाओं की शिक्षा और रोजगार तक पहुंच होगी, लेकिन उन्हें हिजाब पहनना होगा।

 


अनुशंसित लेख