एक चौंकाने वाली घटना में, तेलंगाना के चिंतवारे गांव में एक प्राइमरी स्कूल के हेडमास्टर  पर स्कूल में पढ़ने वाली पांच लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया है। 7 से 11 वर्ष की आयु की लड़कियों का अगस्त 2020 से आरोपियों द्वारा बार-बार बलात्कार किया गया। पुलिस ने हेडमास्टर के खिलाफ आईपीसी और POCSO एक्ट की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है, हालांकि, वह अभी भी फरार है, जैसा कि TOI द्वारा रिपोर्ट किया गया है। ।

40 वर्षीय हेडमास्टर कथित रूप से लड़कियों को ’पर्सनल क्लासेज’ देते थे क्योंकि उनके पास महामारी के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए स्मार्टफोन नहीं थे। सभी छात्राओं को अलग-अलग स्कूल में बुलाया गया, तब आरोपियों ने उनका यौन उत्पीड़न किया, उन्हें अश्लील वीडियो दिखाई, और उन्हें वैसा ही करने  के लिए कहा। आरोपी ने उन्हें धमकी दी की अगर उन्होंने अपने माता-पिता को उसके कार्यों के बारे में बताया तो उसका परिणाम  खतरनाक होगा, जिसमें मौत भी शामिल है, अजैसा कि न्यू इंडियन एक्सप्रेस द्वारा बताया गया है।

घटना का पता तब चला जब विक्टिम्स में से एक बीमार हो गयी और उसे हस्पताल जाना पड़ा। इलाज के दौरान 7 साल की मासूम ने अपनी मां से बात की। “हालांकि मैं उससे पूछती रही, उसने मुझे इस बारे में कभी कुछ नहीं बताया कि वह अपनी क्लासेज  में क्यों नहीं जाना चाहती। तब वह हाल ही में बीमार पड़ी थी और ठीक से चल भी नहीं पा रही थी। फिर भी, मुझे संदेह नहीं था कि ऐसा कुछ हुआ होगा। उसकी माँ के लगातार पूछने के बाद, उसने मुझे यौन शोषण के बारे में बताया, “सर्वाइवर की माँ ने कहा।

आगे की जांच करने पर पता चला कि वह पांच लड़कियों का यौन शोषण करता था। इस मुद्दे को स्कूल अधिकारियों के पास ले जाने पर, कुछ शिक्षक जो आरोपी व्यक्ति के पक्ष में थे, ने इसे इंटरनली निपटाने की कोशिश की। हालांकि, सर्वाइवर्स के माता-पिता बहुत नाराज हुए और हेडमास्टर  के साथ मारपीट की। इस एपिसोड का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस मुद्दे के बारे में सतर्क होने पर, मंडल तहसीलदार और आईसीडीएस प्रोजेक्ट हेड पूछताछ के लिए गांव में पहुंचे।

रिपोर्ट के अनुसार, इलाके के एसपी सुनील दत्त ने कहा, “आरोपी कोठागुडेम से है और हमारी टीमें उसकी तलाश में हैं। एक बार गिरफ्तारी के बाद हम अपराध के बारे में अधिक जानकारी एकत्र कर पाएंगे। हम आईसीडीएस अधिकारियों के साथ कोर्डिनेट कर रहे हैं क्योंकि लड़कियां बहुत छोटी हैं। ”

पुलिस ने इंटीग्रेटेड चाइल्ड डेवलपमेंट सर्विसेज (ICDS) के साथ सर्वाइवर्स को मेडिकल के लिए भेजा है। सभी सर्वाइवर्स का बयान जल्द ही दर्ज किया जाएगा।

Email us at connect@shethepeople.tv