Ukraine Indian Student Death: स्टूडेंट्स के पिता ने इंडिया का झंडा लगाने को कहा था

Ukraine Indian Student Death: स्टूडेंट्स के पिता ने इंडिया का झंडा लगाने को कहा था Ukraine Indian Student Death: स्टूडेंट्स के पिता ने इंडिया का झंडा लगाने को कहा था

SheThePeople Team

02 Mar 2022


Ukraine Indian Student Death: रूस और यूक्रेन की लड़ाई का प्रभाव वहाँ फंसे भारतीयों पर ज़्यादा दिखने लगा है। खाने पीने, रहने को लेकर जो दिक्कते आ रही थी उसी के साथ जान का खतरा भी बन गया है। रूस ने जहाँ यूक्रेन से बात करने का प्रस्ताव एक्सेप्ट किया वही दूसरी तरफ रूस ने अपनी डिफेन्स मिनिस्ट्री को अलर्ट पर कर दिया था। माना जा रहा था रूस मिसाइल का इस्तेमाल नहीं करेगा पर उसने मंगलवार को मिसाइल से यूक्रेन के शहर पर हमला कर दिया।

मंगलवार को रूस द्वारा यूक्रेन की सिटी Zhytomyr पर मिसाइल से हमला कर दिया, निशाना एयर बेस के पास था। इसी के चलते वह चार लोगों की मौत हो गयी। इस बात की जानकारी यूक्रेन इंटीरियर मिनिस्टर Anton Gerashchenko ने आपने टेलीग्राम चैनल पर दी।

Ukraine Indian Student Death: स्टूडेंट की पहचान और हत्या का क्या कारण है?


हत्या रूस बॉर्डर के पास ईस्टर्न यूक्रेन के शहर खारकीव है। जिस भारतीय स्टूडेंट की हत्या हो गयी उसका नाम Naveen Shekharappa Gyanagoudar हुयी है। 21 साल के नवीन कर्नाटक के चलगेरी गांव रहने वाले खरकिव नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी, खारकीव में MBBS 4th ईयर के मेडिकल स्टूडेंट थे। इंडियन ऑफिशल्स का कहना है वह गोलाबारी में मारा गया पर नवीन के हॉस्टल मेट समेत खारकीव की स्टूडेंट्स कम्युनिटी का ब्यान है, "रशियन आर्मी ने ग्रोसरी स्टोर के बाहर उसपर फिरिनव कर जान ले ली"।

मिनिस्ट्री ऑफ़ एक्सटर्नल अफेयर्स के स्पोकेसपर्सन Arindam Bagchi ने भारतीय स्टूडेंट्स की हत्या पर ट्वीट कर शोक जाहिर किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा- "गहरे दुख के साथ हम पुष्टि करते हैं कि आज सुबह खारकीव में गोलाबारी के दौरान एक भारतीय छात्र की जान चली गई। मिनिस्ट्री उनके परिवार से लगातार संपर्क में है। हम परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।"

रूस यूक्रेन वॉर से जुड़ी अन्य मुख्य जानकारी-

रशिया के द्वारा किए गए रॉकेट अटैक में 70 से ज़्यादा यूक्रेनियन सर्विसमैन और दर्जनों सिविलियन्स मारे जा चुके है। कीव की इंडियन एम्बेसी ने इमरजेंसी एडवाइजरी इशू कर दिया जिसमे इंडियंस को किसी भी तरह कीव से निकलने को कहा यानि कीव को किसी भी हालातों में छोड़ने को कहा।

रशियन डिफेंस मिनिस्ट्री ने कहा की वह कीव में उक्रैन की सिक्योरिटी सर्विस(SBU) और 72nd सेंटर फॉर इनफार्मेशन एंड साइकोलॉजिकल ऑपरेशन्स(PSO) के खिलाफ हाई प्रिसिशन स्ट्राइक्स लांच करना चाहते है और वहाँ के नागरिक जल्द से जल्द इलाका छोड़ दे।


अनुशंसित लेख