उत्तर प्रदेश पुलिस ने महिलाओं के लिए एक नया डिजिटल आउटरीच प्रोग्राम शुरू किया, जिसका उद्देश्य उनकी सुरक्षा और उन्हें एम्पोवर करना  है। कार्यक्रम का नाम “हमारी सुरक्षा: मोबाइल हाथ में, 1090 साथ में” है। इसे राज्य की महिला टेलीफोन हेल्पलाइन सेवा 1090 के माध्यम से लॉन्च किया गया है, इसे “वीमेन पॉवर लाइन – 1090” भी कहा जाता है। कार्यक्रम का उद्देश्य महिलाओं को डिजिटल रूप से सतर्क बनाना और उनके बीच जागरूकता पैदा करना है।

image

उत्तर प्रदेश पुलिस की महिला पावरलाइन विंग की एडिशनल महानिदेशक नीरा रावत ने कहा, “हम अपराधियों के बीच डर पैदा करना चाहते हैं। लेकिन साथ ही, हम मानते हैं कि महिलाओं से संबंधित मुद्दों का समाधान दिमाग पर असर डालने और सांस्कृतिक बदलाव लाने में निहित है। ”

सभी नेट उपयोगकर्ताओं को कवर करने के लिए फेज्ड तरीके से अभियान का प्रसार किया जाएगा। यह छात्रों और घरों, ग्रामीण और शहरी लोगों के बीच आउटरीच को बढ़ाएगा। लोगों को डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से डब्ल्यूपीएल -1090 के साथ जुड़ने और इसके बारे में जानकारी फैलाने के लिए राजी किया जाएगा।

रावत ने आउटरीच के ट्रेडिशनल तरीकों की कमियों और डिजिटल आउटरीच के पॉजिटिव फैक्टर्स के बारे में भी बताया। “डिजिटल चक्रव्यूह” नामक एक डिजिटल आउटरीच रोडमैप शेयर किया गया था। रावत के अनुसार, यह उत्तर प्रदेश में “महिलाओं की सुरक्षा के लिए 360 डिग्री इकोसिस्टम” बनाने में मदद करेगा।

महिलाओं की सुरक्षा हमेशा से ही भारत जैसे देह में एक संवेदनशील मुद्दा रहा है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए अभी भी बहुत सारे ऐसे कदम है जो सरकार को उठाने चाहिए। आये दिन हमारे देश में हमे ऐसे बहुत को केसेस देखने को मिलते है जहाँ महिलाओं को प्रताड़ित किया जाता है।

Email us at connect@shethepeople.tv