विद्या बालन की शॉर्ट फिल्म ‘नटखट’ अकैडेमिक पुरुस्कारों की रेस में इस साल एक स्पॉट हासिल करने में सफल हुई है। फिल्म ऑस्कर के लिए बेस्ट शॉर्ट फिल्म (लाइव एक्शन) कैटेगरी में क्वालिफ़ाइ हुई है। इसके अलावा, फिल्म निर्माता (producer) के रूप में ये विद्या बालन की पहली फिल्म है। 33 मिनट की शॉर्ट फिल्म को शान व्यास ने डायरेक्ट किया है और इसे  Tribeca’s We Are One: A Global Film Festival में प्रीमियर किया गया था। यह फ़िल्म भारतीय फिल्म महोत्सव में जर्मन स्टार ऑफ इंडिया अवार्ड जीतने में भी कामयाब रही।

 

एक स्टेटमेंट में ऐक्टर विद्या बालन ने कहा कि ये फ़िल्म उनके दिल के बेहद करीब है और वो समाज में आ रहे बदलाव को देख कर खुश हैं।

विद्या बालन की शॉर्ट फिल्म ‘नटखट’ अकैडेमिक पुरुस्कारों की रेस में इस साल एक स्पॉट हासिल करने में सफल हुई है। फिल्म ऑस्कर के लिए बेस्ट शॉर्ट फिल्म (लाइव एक्शन) कैटेगरी में क्वालिफ़ाइ हुई है।

नटखट फ़िल्म किस बारे में है?

फिल्म की कहानी एक माँ (विद्या बालन) के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने बेटे को अपने आसपास पितृसत्ता और कुरीतियों से दूर रखने की कोशिश करती है। पूरी स्टोरी एक बेहतरीन माँ-बेटे के रिश्ते को प्रकट करती है। लड़के की माँ के रूप में, विद्या अपने बेटे को लैंगिक समानता (gender equality) के मूल्यों को सिखाने का प्रयास करती है जब वो अपने बेटे को परिवार के अन्य पुरुषों की तरह पितृसत्ता की ओर झुकते देखती है।

फिल्म के डायरेक्टर शान व्यास ने कहा कि फिल्म इस वैल्यू पर ज़ोर देती है कि ‘घर में ही बदलाव शुरू होता है।’ उन्होंने ये भी कहा कि वो ये शानदार समाचार सुन कर बहुत खुश थे और कहा कि दुनिया ने पिछले कुछ सालों में कुछ अच्छी भारतीय फिल्मों की बेहतर क्वालिटी की अब तक खोज नहीं की है।

पढ़िए : क्या आप विद्या बालन के बारे में यह जानते हैं ?

Email us at connect@shethepeople.tv