विश्व चैंपियनशिप की ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट विनेश फोगाट को दूसरी बार खेल रत्न के लिए नॉमिनेट किया जाने वाला है। पिछले साल भी उन्हें नॉमिनेट किया गया था पर वो साथी पहलवान बजरंग पूनिया से पीछे रह गयी थी।

image

ओलंपिक्स के लिए क्वालिफाइड

विनेश फोगाट अकेली महिला पहलवान है जो ऑलरेडी टोक्यो ओलंपिक्स जो कि अब कोरोना के चलते पोस्टपोन होगये हैं , के लिए क्वालीफाई होगयीं हैं।

विनेश की उपलब्धियां

वो पिछले तीन साल से लगातार आगे बढ़ रहीं हैं। विनेश ने एशियाई गेम्स जकार्ता में गोल्ड मेडल जीता और 2019 में नूर सुल्तान में आयोजित विश्व चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज़ मेडल जीत के टोक्यो ओलंपिक्स में अपनी जगह बनाई। इस साल उन्होंने नई दिल्ली में हुए एशियाई चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज़ मेडल भी जीता।

वो पहली महिला पहलवान हैं जिन्होंने कॉमनवेल्थ और एशियाई गेम्स दोनों में गोल्ड मेडल जीता।

अर्जुन अवार्ड से सम्मानित

उनको 2016 में अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। 2018 में उन्हें पद्म श्री के लिए भी नॉमिनेट किया गया था। दो सालों से उन्हें भारत के खेल जगत के सबसे बड़े सम्मान ‘खेल रत्न’ के लिए नॉमिनेट किया जारहा है।

साक्षी मालिक ने भी किया आवेदन

साक्षी मलिक ने भी अर्जुन अवार्ड के लिए अपना नाम डब्ल्यू एफ आई (Wrestling Federation of India WFI) को दिया है।

साक्षी को नॉमिनेट करना मुश्किल

अगर परफ़ॉर्मेन्स के हिसाब से देखा जाए तो साक्षी मलिक का नाम शायद ना भेजा जाए क्योंकि साक्षी अपनी चोट के कारण अपने करियर में काफी स्ट्रगल कर रहीं हैं। वहीं दीपक पूनिया, संदीप तोमर और राहुल अवारे जैसे अच्छे पहलवान हैं जो अभी अच्छा खेल रहे हैं और जीत भी रहे हैं, वो साक्षी की टक्कर में हैं।

विनेश एक मजबूत कंटेंडर

डब्ल्यू एफ आई के असिस्टेंट सेक्रेटरी विनोद तोमर का कहना है कि वो विनेश फोगाट की खेल रत्न के लिये एप्लिकेशन सोमवार को फॉरवर्ड कर देंगे क्योंकि विनेश एक मज़बूत कंटेंडर हैं पर अर्जुन अवार्ड की एप्लीकेशन के बारे में उन्होंने अभी सोचा नही है। डब्ल्यू एफ आई के प्रेसिडेंट फैसला लेंगे कि किसकी एप्लिकेशन मिनिस्ट्री के पास जाएगी।

और पढ़िए-पीवी सिंधु को मिला ‘स्पोर्ट्सवुमन ऑफ़ द ईयर’ का खिताब

Email us at connect@shethepeople.tv